City Headlines

Home » मप्र के रायसेन में ट्रक ने बारातियों को रौंदा, पांच की मौत

मप्र के रायसेन में ट्रक ने बारातियों को रौंदा, पांच की मौत

मुख्यमंत्री ने हादसे पर व्यक्त किया दुख, आर्थिक सहायता का ऐलान

by Rashmi Singh

रायसेन । मध्य प्रदेश के रायसेन जिले में सोमवार रात बड़ा हादसा हो गया। भोपाल-जबलपुर रोड पर सुल्तानपुर थाना क्षेत्र के ग्राम घाट खमरिया में एक तेज रफ्तार ट्रक अनियंत्रित होकर बारात में जा घुसा और बारातियों को रौंदता हुआ निकल गया। इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि 11 घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें पांच लोगों को हालत गंभीर है। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने हादसे पर दुख व्यक्त किया है। साथ ही मृतकों के परिजनों और घायलों के लिए आर्थिक सहायता का ऐलान किया है।
सुल्तानपुर थाना क्षेत्र के ग्राम घाट खमरिया में पूर्व सरपंच रघुवीर अहिरवार के घर नर्मदापुरम जिले के ग्राम आंचलाखेड़ा से बारात आई थी। सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे सड़क पर बारात निकल रही थी। इसी दौरान एक ट्रक तेज रफ्तार के कारण अनियंत्रित हो गया और बारात में घुस गया। ट्रक की चपेट में आने से पांच बारातियों की मौत हो गई, जबकि 11 लोग हो गए। हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से फरार हो गया। सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर अरविन्द कुमार दुबे और एसपी विकास कुमार सहवाल मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली।
सुल्तानपुर थाना प्रभारी रजत सराठे ने बताया कि हादसे के बाद ट्रक चालक मौके से भाग गया। हादसे में पांच लोगों की मौत हुई है और 11 लोग घायल हुए हैं। घायलों में पांच की हालत गंभीर हैं और उन्हें भोपाल रेफर किया गया है। अन्य घायलों का रायसेन के जिला अस्पताल में उपचार जारी है। कलेक्टर दुबे ने कहा कि रात करीब 10 बजे दुर्घटना की जानकारी मिलते ही वह मौके पर पहुंचे। पुलिस घटना की जांच कर रही है।
इधर, मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मंगलवार को सोशल मीडिया के माध्यम से हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि रायसेन जिले में शादी समारोह के दौरान हुए दर्दनाक सड़क हादसे में अमूल्य जिंदगियों के असमय निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। उन्होंने ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह गहन पीड़ा सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने घटना में हताहत लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये एवं घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने के साथ ही घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग मंगलवार को गंभीर घायलों का हाल-चाल जानने के लिए एम्स पहुंचे। उन्होंने घायलों का हाल-जाना एवं उनके उपचार हेतु सभी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने मीडिया से कहा कि एम्स रेफर किये गये पांच घायलों में से 3 की हालत खतरे से बाहर है। वहीं एक को वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। एम्स के विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम घायलों की स्थिति को लगातार मॉनिटर कर रही है। दुर्भाग्यवश अति गंभीर रूप से घायल एक नागरिक को बचाने में हम सफल नहीं हो सके। शोकतंत्पत परिजनों के प्रति मेरी गहन संवेदनाएं हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.