City Headlines

Home » पाकिस्तान क्रिकेट की बदहाली : घायल शादाब खान को नहीं मिला स्ट्रेचर; साथी खिलाड़ी पीठ पर उठा कर बाहर ले गया

पाकिस्तान क्रिकेट की बदहाली : घायल शादाब खान को नहीं मिला स्ट्रेचर; साथी खिलाड़ी पीठ पर उठा कर बाहर ले गया

सोशल मीडिया पर उड़ा पीसीबी का मजाक

by Rashmi Singh

नयी दिल्ली। पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ी अपने खेल से ज्यादा अन्य गतिविधियों के लिए चर्चा में रहते हैं। अब सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें शादाब खान को घायल हो जाने पर उनके साथी कंधे पर ले जा रहे हैं। इसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) का मजाक उड़ाया जा रहा है।
दरअसल, पाकिस्तान के ऑलराउंडर शादाब खान नेशनल टी20 कप के दौरान चोटिल हो गए। रावलपिंडी की कप्तानी करने वाले शादाब सियालकोट के खिलाफ मैच में जब चोटिल हुए तो उन्हें ले जाने के लिए स्ट्रेचर मैदान पर नहीं उपलब्ध हो पाया । शादाब को साथी खिलाड़ी ने कंधे पर उठाकर ड्रेसिंग रूम तक पहुंचाया। जैसे ही सोशल मीडिया पर इस वाकये का वीडियो सामने आया, प्रशंसक पीसीबी पर टूट पड़े। उन्होंने मूलभूत सुविधाओं की कमी के लिए पीसीबी को जमकर सुनाई ।
शादाब को टखने में लगी चोट
शादाब खान ने मैच में दो ओवर गेंदबाजी की और सात रन दिए। वह फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए। पाकिस्तान सुपर लीग में शादाब खान की टीम इस्लामाबाद यूनाइटेड ने उनकी चोट पर बयान जारी किया। उसने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा, ”शादाब खान नेशनल टी20 कप में शानदार गेंदबाजी कर रहे थे और मैदान से बाहर जाने से पहले उन्होंने दो ओवर में केवल सात रन दिए। फील्डिंग के दौरान उनका टखना मुड़ गया। उनकी चोट ज्यादा गंभीर नहीं है।”
शादाब खान की टीम जीती
रावलपिंडी और सियालकोट के बीच यह मैच कराची में खेला गया। शादाब ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। सियालकोट ने 20 ओवर में दो विकेट पर 163 रन बनाए। उसके लिए कप्तान शोएब मलिक ने सबसे ज्यादा नाबाद 84 रन बनाए। उन्होंने 56 गेंद की पारी में छह चौके और चार छक्के लगाए। आशिर महमूद ने 52 गेंद पर नाबाद 72 रन बनाए। उन्होंने चार चौके और चार छक्के लगाए। रावलपिंडी ने 18.4 ओवर में सात विकेट पर 167 रन बनाकर मैच को अपने नाम कर लिया। उसके लिए यासिर खान ने 52 गेंद पर नाबाद 87 रन बनाए। उन्होंने चार चौके और सात छक्के लगाए।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.