City Headlines

Home » सुपर ओवर में बिश्नोई को गेंद देने का रोहित का साहसिक और अच्छा निर्णय था : द्रविड़

सुपर ओवर में बिश्नोई को गेंद देने का रोहित का साहसिक और अच्छा निर्णय था : द्रविड़

by Sanjeev

बेंगलुरु । अफगानिस्तान और भारत के बीच बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए तीसरे टी-20 मैच में 40 ओवरों में 424 रन बने, जिसके बाद सुपर ओवर की नौबत आई। रोमांच यहीं नहीं खत्म हुआ सुपर ओवर में दोनों टीमों ने 16-16 रन ही बनाया, और फिर दूसरा सुपर ओवर खेला, जिसमें भारत ने 11 रन बनाए और जवाब में रवि बिश्नोई ने भारत की तरफ से सुपर ओवर फेका, जिसमें अफगानिस्तान ने 1 रन पर दो विकेट खो दिये और भारत ने सुपर ओवर में 10 रन से जीत दर्ज की।
भारतीय कोच राहुल द्रविड़ ने मैच के बाद ऐसी कठिन स्थिति में बिश्नोई को गेंद देने के सकारात्मक निर्णय के लिए कप्तान रोहित की सराहना की।
द्रविड़ ने कहा, “मुझे लगता है कि रोहित अपने साहस के साथ गए, उन्हें लगा कि स्पिनर के पास उन दो विकेट लेने का बेहतर मौका था। यह उन मैचों में से एक था जब 11 शायद एक बड़ा स्कोर नहीं था और आप जानते हैं कि अगर वे उन छह गेंदों पर अपनी ताकत के साथ बल्लेबाजी करते, तो शायद उन्हें 12 रन मिलते। आपको दो विकेट लेने की जरूरत थी।”
बिश्नोई ने ऐसा ही किया और अपनी लंबाई पीछे खींचकर बल्लेबाजों के लिए चिन्नास्वामी स्टेडियम जैसे स्थान पर भी बाउंड्री लगाना कठिन बना दिया।
द्रविड़ ने कहा, ”मुझे लगता है कि स्पिनर के साथ उतरने का कप्तान का यह अच्छा फैसला था। वह दो छक्के लगा सकते थे, लेकिन मुझे लगा कि बिश्नोई शानदार थे, क्योंकि उन्होंने दो शानदार गेंदें फेंकी। उन्होंने लेंथ को पीछे खींच लिया… अगर लेंथ थोड़ी फुलर हो गई होती, जिस तरह से वे बल्लेबाजी कर रहे थे, इस छोटे मैदान पर यह छक्का लग जाता। मुझे लगता है कि रोहित की ओर से विकेटों के लिए जाना और अधिक सकारात्मक होना वास्तव में एक सुरक्षित विकल्प था, जिसकी लोगों ने अपेक्षा की थी।”

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.