City Headlines

Home » प्रभु राम भारत के सर्वोत्तम आयामों के प्रतीक : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

प्रभु राम भारत के सर्वोत्तम आयामों के प्रतीक : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में राष्ट्रपति ने दिया शुभकामना संदेश

by Rashmi Singh
President, Buxa Tribe, Draupadi Murmu, Forest Rights Letter, Documentary, Certificate, UP

नई दिल्ली। अयोध्या के राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा से पहले राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि प्रभु राम भारत के सर्वोत्तम आयामों के प्रतीक हैं। उन्होंने भारत की आध्यात्मिक चेतना और संस्कृति में रचे-बसे भगवान राम के प्रभुत्व का जिक्र करते हुए कहा कि भारत के सर्वोत्तम आयामों का प्रतीक मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हैं। तीन पन्नों के विस्तृत पत्र में राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने जो 11 दिवसीय अनुष्ठान किया है, वह त्याग की भावना से प्रेरित सर्वोच्च आध्यात्मिक कृत्य है। उन्होंने इसे प्रभु श्रीराम के प्रति संपूर्ण समर्पण का भाव भी करार दिया।
भारतवासियों का सौभाग्य; नए कालचक्र की शुरुआत के साक्षी
राष्ट्रपति ने पत्र में लिखा, प्रधानमंत्री की ओर से की गई पूजा-अर्चना से भारत की अद्वितीय सभ्यता और अब तक की सांस्कृतिक यात्रा का ऐतिहासिक चरण पूरा होगा। उन्होंने कहा, राष्ट्र के पुनरुत्थान का जिक्र करते हुए कहा, यह हमारा सौभाग्य है कि हम एक नए कालचक्र की शुरुआत के साक्षी बन रहे हैं।
प्रभुश्री राम का प्रभाव; महात्मा गांधी के जीवन का जिक्र
भगवान श्रीराम के साहस, करुणा और अटूट कर्तव्यनिष्ठा जैसे गुणों का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ने कहा, मर्यादा पुरुषोत्तम ने जिन सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों की प्रतिष्ठा की थी। उन्हें अयोध्या के भव्य राम मंदिर के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है। राष्ट्रपति ने महात्मा गांधी के जीवन पर भगवान राम के प्रभाव का भी जिक्र किया।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.