City Headlines

Home » जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: दर्शकों में छा गए वरिष्ठ पत्रकार और ब्लॉगर रवीश कुमार

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: दर्शकों में छा गए वरिष्ठ पत्रकार और ब्लॉगर रवीश कुमार

by Rashmi Singh

जयपुर। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के दूसरे दिन जाने-माने पत्रकार और ब्लॉगर रवीश कुमार का सेशन खासा सुर्खियों में रहा। रवीश कुमार ने सेशन के दौरान दिल्ली में जारी महिला पहलवानों के धरने पर अपनी बात रखी। सेशन में रवीश कुमार देश में डर के माहौल को लेकर बात रखते हुए यहां तक कह गए कि जज भी डर रहे हैं।
सेशन में बातचीत के दौरान रवीश कुमार ने कहा कि दिल्ली में जो लड़कियां धरने पर बैठी है, वो कितनी ताकतवर हैं। लेकिन वो जिस व्यक्ति के खिलाफ धरने पर बैठी हैं, उसका नाम लेने में भी डर लगता है और डर लगना भी चाहिए। इतना आसान नहीं है, उनके इलाके में जब जाएंगे तो पता चलेगा कि वो डर कितना बडा है। आप सरकार का नाम ले लेते हैं, लेकिन उनका नाम लेकर उनके इलाके में जरा बोलकर दिखाइये।
रवीश कुमार ने चुनौती देते हुए कहा कि स्मृति ईरानी दिल्ली में धरना दे रही महिला पहलवानों के साथ उनकी आवाज में सुर से सुर मिलाएं। उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी बृज भूषण के इलाके में धरना देकर दिखा दें, वे चले जाएं तो पीछे-पीछे मैं भी आता हूं, कम से कम मंत्री तो साहस करें। लेकिन मंत्री भी डर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर इशारे इशारे में निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली में बैठी महिला पहलवान 72 इंच के सीने वालों को पटखनी दे सकती है,तो 56 इंच के सीने वालों की क्या मजाल है?
सेशन में बातचीत करते हुए रवीश कुमार ने कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस कहते हैं कि आज कल जमानत देने में डर लगता है तो फिर समझना चाहिए कि देश में डर का माहौल कितना बड़ा है। जब देश के जज ही डर रहे हैं तो आप को समझना होगा कि आप कितने सुरक्षित हैं। रवीश कुमार ने यह भी कहा कि आज सच का आकलन की पीआईबी के जरिए किया जा रहा है। अगर किसी खबर को पीआईबी फेक न्यूज बता देता है तो सभी पोर्टल उसे हटा देते हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.