City Headlines

Home » इलेक्टोरल बॉन्ड से चुनावी चंदा हासिल करने में भाजपा से बहुत पीछे हैं तृणमूल और कांग्रेस

इलेक्टोरल बॉन्ड से चुनावी चंदा हासिल करने में भाजपा से बहुत पीछे हैं तृणमूल और कांग्रेस

by Madhurendra
Kolkata, Bengal, West Bengal, Election Donation, Electoral Bond, Supreme Court, Bond, Central Government, Modi Government, BJP

कोलकाता। चुनावी चंदे (इलेक्टोरल बॉन्ड) को लेकर सर्वोच्च न्यायालय की सख्ती के बाद इसे लेकर नित नए तथ्य सामने आ रहे हैं। अब तक सामने आई जानकारी के अनुसार इलेक्टोरल बॉन्ड से केंद्र तथा विभिन्न राज्यों में शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी ने 06 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा का चुनावी चंदा हासिल किया है। भाजपा के बाद देश में दूसरा स्थान ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस और इसके बाद कांग्रेस का है।

तृणमूल और कांग्रेस चुनावी चंदा हासिल करने के मामले में भाजपा के बाद जरूर दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं, पर रकम हासिल करने में भाजपा से बहुत पीछे हैं। पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस को अपने राज्य में सबसे अधिक चुनावी चंदा मिलने की जानकारी सामने आ रही है। जानकारी से पता चलता है कि अप्रैल 2019 से जनवरी 2024 तक चुनावी बॉन्ड से पैसा पाने की सूची में तृणमूल कांग्रेस दूसरे स्थान पर रही है। आंकड़े बताते हैं कि 2021 के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद तृणमूल के फंड में चुनावी बॉन्ड से मिलने वाली रकम में भारी बढ़ोतरी हुई है।

चुनाव आयोग द्वारा दी गई गणना के मुताबिक, इस बांड से बीजेपी के बाद तृणमूल को 1609 करोड़ 53 लाख रुपये मिले हैं। केंद्र में सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली कांग्रेस भी तृणमूल के पीछे है। इसको चंदे में 1421 करोड़ 85 लाख रुपये हासिल हुए हैं।

 

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.