City Headlines

Home » कांग्रेस ने किया ‘नारी न्याय’ गारंटी का ऐलान, महिलाओं के लिए की पांच बड़ी घोषणाएं 

कांग्रेस ने किया ‘नारी न्याय’ गारंटी का ऐलान, महिलाओं के लिए की पांच बड़ी घोषणाएं 

राहुल गांधी ने मालेगांव में हनुमान मंदिर में दर्शन कर मांगा आशीर्वाद

by Madhurendra
New Delhi, Congress, Nari Nyay Guarantee, Bharat Jodo Nyay Yatra, Dhule, Malegaon, Women's Conference, Mallikarjun Kharge, Rahul Gandhi
  • कांग्रेस ‘नारी न्याय’ गारंटी से महिलाओं के लिए देश में एक नया एजेंडा सेट करने जा रही : खरगे 
  • नारी न्याय गारंटी के तहत पांच ऐतिहासिक कदम महिलाओं के लिए समृद्धि का द्वार खोलने जा रहे : राहुल 

नई दिल्ली। कांग्रेस ने महिलाओं के लिए ‘नारी न्याय’ गारंटी की घोषणा की है। बुधवार को भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान महाराष्ट्र के धुले में आयोजित महिला सम्मेलन में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘नारी न्याय’ गारंटी का ऐलान किया। इसके तहत केंद्र में सरकार बनने पर गरीब महिलाओं को हर साल एक लाख रुपये की मदद देने, केंद्र सरकार में सभी नई भर्तियों में आधा हिस्सा महिलाओं के लिए आरक्षित करने जैसी पांच बड़ी घोषणाएं की गईं। वहीं मालेगांव में पहुंचने पर राहुल गांधी ने हनुमान मंदिर में दर्शन कर आशीर्वाद मांगा।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाएं हमारे देश की आधी आबादी हैं, लेकिन दुख के साथ कहना पड़ता है कि उन्हें पिछले 10 सालों में कुछ नहीं मिला। मोदी सरकार ने सिर्फ महिलाओं की मुश्किलें बढ़ाई हैं। महिलाओं के नाम पर सिर्फ राजनीति और उनसे वोट लेने का काम हुआ है। चाहे महिला आरक्षण का जुमला हो, बढ़ती महंगाई हो, रिकॉर्ड बेरोजगारी हो, बढ़ते अपराध हो। इन सभी मुद्दों का असर सबसे ज्यादा महिलाओं पर होता है। इन सभी पर मोदी सरकार पूरी तरह फेल रही है। इसलिए कांग्रेस “नारी न्याय” गारंटी की घोषणा करती है, इसके तहत कांग्रेस पार्टी महिलाओं के लिए देश में एक नया एजेंडा सेट करने जा रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि “नारी न्याय” गारंटी के अंतर्गत कांग्रेस पार्टी पांच घोषणाएं कर रही है। पहली घोषणा महालक्ष्मी गारंटी है, इसके तहत गरीब परिवार की एक महिला को सालाना एक लाख रुपये की सहायता दी जाएगी। दूसरी घोषणा आधी आबादी-पूरा हक है, इसके तहत केंद्र सरकार की नई नियुक्तियों में आधा हक महिलाओं को मिलेगा। तीसरी घोषणा शक्ति का सम्मान है, इस योजना के तहत आंगनबाड़ी, आशा और मिड डे मील वर्कर के मासिक वेतन में केंद्र सरकार का योगदान दोगुना होगा। चौथी घोषणा अधिकार मैत्री के तहत हर पंचायत में महिलाओं को उनके हकों के लिए जागरूक करने और जरूरी मदद के लिए अधिकार मैत्री के रूप में एक पैरा-लीगल यानी कानूनी सहायक की नियुक्ति की जाएगी। पांचवी घोषणा सावित्री बाई फुले हॉस्टल के तहत भारत सरकार देशभर में सभी जिला मुख्यालयों में कम से कम एक कामकाजी महिलाओं का हॉस्टल बनाएगी और पूरे देश में इन हॉस्टल की संख्या दोगुनी की जाएगी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इसके पहले कांग्रेस ने भागीदारी न्याय, किसान न्याय और युवा न्याय घोषित किए हैं। ये कहने की जरूरत नहीं है कि कांग्रेस की गारंटी खोखले वादे और जुमले नहीं होते। कांग्रेस का कहा पत्थर की लकीर होती है। यही कांग्रेस का 1926 से अब तक का रिकॉर्ड है, जब हमारे विरोधियों का जन्म हो रहा था, तब से कांग्रेस घोषणा पत्र बना रही है और उन घोषणाओं को पूरा कर रही है।

सरकार बनने पर घोषणाएं लागू की जाएंगी : राहुल
महिला सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस महिलाओं को पांच ऐसी गारंटियां दे रही है, जिनसे देश में महिलाओं का जीवन हमेशा के लिए बदल जाएगा। केंद्र में इंडिया गठबंधन की सरकार आने पर “नारी न्याय” गारंटी के तहत घोषणाएं लागू की जाएंगी। कांग्रेस का लक्ष्य देश की आधी आबादी को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना और बराबरी का प्रतिनिधित्व देना है। यह पांच ऐतिहासिक कदम महिलाओं के लिए समृद्धि का द्वार खोलने जा रहे हैं।

महिला आरक्षण को लेकर भी बड़ी घोषणा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में धूमधाम से महिलाओं को आरक्षण दिया लेकिन फिर कहा गया कि सर्वे के बाद महिलाओं को आरक्षण दिया जाएगा और सर्वे दस साल के बाद होगा। उन्होंने कहा कि जैसे ही कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी, महिलाओं को बिना सर्वे के आरक्षण दिया जाएगा।

इस दौरान राहुल गांधी ने भागीदारी न्याय का मुद्दा उठाते हुए केंद्र में इंडिया गठबंधन की सरकार बनने पर जाति जनगणना के साथ आर्थिक सर्वे कराने की बात भी कही।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.