City Headlines

Home » मुजफ्फरनगर में दो पक्षों में खूनी संघर्ष में तीन की मौत, एडीजी ने लिया जायजा

मुजफ्फरनगर में दो पक्षों में खूनी संघर्ष में तीन की मौत, एडीजी ने लिया जायजा

by Sanjeev

मुजफ्फरनगर । रतनपुर थाना क्षेत्र के फुलत गांव में अनुसूचित जाति के दो पक्षों के बीच हुए खूनी संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गई। मंगलवार की देर रात दो लोगों की मौत के बाद बुधवार को अस्पताल में तीसरे व्यक्ति की भी मौत हो गई। तिहरे हत्याकांड में पुलिस ने दोनों पक्षों के दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बुधवार को मेरठ जोन के एडीजी ध्रुवकांत ठाकुर ने फुलत गांव का निरीक्षण किया और अधिकारियों से पूरे मामले की जानकारी ली।
फुलत गांव में अनुसूचित जाति के अंकित पुत्र राजू और पड़ोसी हरिमोहन की बेटी मीनाक्षी ने करीब दस माह पहले गांव से फरार होकर कोर्ट मैरिज कर ली थी। इस समय दोनों मेरठ में रह रहे थे। इसके बाद से ही दोनों पक्षों के बीच रंजिश शुरू हो गई। थाने में तहरीर भी दी गई थी। बाद में दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया था। इसके बाद भी हरिमोहन पक्ष के लोगों ने अंकित को गांव में नहीं आने की चेतावनी दी थी। मंगलवार को अंकित अपने परिवार में सगाई समारोह में भाग लेने के लिए पहुंच गया। देर रात हरिमोहन पक्ष के लोगों ने अंकित को गांव में देख लिया। इस पर हरिमोहन और उसके दो बेटों रोहित व राहुल ने अंकित को घेर लिया। इसके बाद अंकित की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद राजू पक्ष के लोगों ने तीनों पिता-पुत्रों को गोलियों से भून दिया। जिसमें से रोहित की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि हरिमोहन और राहुल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां से दोनों की गंभीर हालत को देखते हुए हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया। बुधवार को घायल राहुल की भी मौत हो गई। ऐसे में गांव में तिहरा हत्याकांड होने से हड़कंप मच गया।
गांव में नाई की दुकान चलाता था अंकित
फुलत गांव में मृतक अंकित नाई की दुकान चलाता था। उससे कुछ ही दूरी पर मीनाक्षी का घर था। यहां से दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। परिजनों के विरोध के बाद दोनों गांव से फरार हो गए और कोर्ट मैरिज कर ली। इसके बाद से ही दोनों मेरठ में रह रहे थे।
एडीजी मेरठ जोन ध्रुवकांत ठाकुर ने बुधवार को मुजफ्फरनगर एसएसपी अभिषेक सिंह, एसपी देहात आदित्य बंसल, सीओ बुढ़ाना गजेंद्र पाल सिंह के साथ फुलत गांव जाकर हालात का निरीक्षण किया। एडीजी ने पुलिस अधिकारियों को पूरे मामले में कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बुधवार को राजू पुत्र फूल सिंह ने दूसरे पक्ष के हरिमोहन पुत्र धर्मपाल, मीना पत्नी हरिमोहन तथा उसके तीन बेटों राहुल, सचिन तथा रोहित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। दूसरे पक्ष की ओर से मृतक रोहित के चाचा गोर्वधन पुत्र धर्मपाल ने दूसरे पक्ष के राजू पुत्र फूल सिंह तथा उसके चार बेटों अंकित, बबलू, जोशी व मोनू के विरुद्ध मुकदमे दर्ज कराए। पुलिस ने पहले ही राजू, मोनू, गोवर्धन को हिरासत में ले चुकी है।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.