City Headlines

Home » हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया , जमीन घोटाले में ईडी ने गिरफ्तार किया

हेमंत सोरेन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया , जमीन घोटाले में ईडी ने गिरफ्तार किया

चम्पई सोरेन विधान मंडल दल के नेता चने गए, सरकार बनाने का दावा किया

by Sanjeev

रांची। झारखंड में बुधवार का दिन बहुत राजनितिक हलचल वाला रहा। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लंबी पूछताछ के बाद रात में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार कर लिया गया है। वह ईडी की हिरासत में राजभवन गए हैं। जहाँ उन्होंने अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप दिया। हेमंत सोरेन की जगह चम्पई सोरेन ने सरकार बनाने का दावा किया है। चम्पई सोरेन का कहना है की 47 विधायक हमारे साथ हैं इसलिए सरकार बनाने का निमंत्रण दिया जाये। राज्यपाल ने जल्दी ही स्थिति का परिक्षण करके फैसला लेने की बात की है।
इसके पूर्व दोपहर में हेमंत सोरेन से पूछताछ शुरू की। पड़ताल करीब नौ घंटे चली। इसके बाद ईडी ने उनको गिरफ़्तारी देने को कहा तो हेमंत सोरेन ने गिरफ़्तारी मेमो पर दस्तखत करने से इंकार कर दिया है। सूत्रों के अनुसार सोरेन का कहाँ है की पहले वह मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देंगे फिर गिरफ़्तारी देंगे। बताया जा रहा है इस्तीफे के बाद ईडी सोरेन को आधिकारिक तौर पर गिरफ्तार कर लेगी। जेएमएम सांसद महुआ मांझी ने भी कहा कि हेमंत सोरेन को ईडी अपने हिरासत में लेकर गर्वनर हाउस तक ले गई है।
सत्ता पक्ष में शामिल गठबंधन के दलों के विधायक तीन बस और अन्य वाहनों से बुधवार रात राजभवन पहुंच गए हैं। भी विधायक राजभवन में राज्यपाल से मिलेंगे। हालाँकि जानकारी के अनुसार राज्यपाल ने विधायकों से मिलने से इंकार कर दिया है।
पहले से लटक रही थी गिरफ्तारी की तलवार
मुख्यमंत्री आवास पर डीजीपी और आईजी के पहुंचने के बाद हलचल तेज हो गई थी जिसके बाद से ही मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी की अटकलें लगने लगी थी। इससे पहले ईडी के अधिकारियों ने भारी सुरक्षा घेरे के बीच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से कथित भूमि घोटाले से मनी लांड्रिंग मामले में बुधवार को उनके आवास पर पूछताछ शुरू की। हेमंत सोरेन से ईडी ने कई घंटे सीएम हाउस पर लंबी पूछताछ की थी।
20 जनवरी को 7 घंटे से ज्यादा ईडी ने पूछताछ की थी
इससे पहले हेमंत सोरेन से 20 जनवरी को इसी मामले में पूछताछ की गई थी। एक अधिकारी ने बताया कि उस दिन पूछताछ पूरी नहीं हो पाई थी। उस दिन सोरेन से सात घंटे से अधिक वक्त तक पूछताछ की गई थी। ईडी के अधिकारियों ने कहा कि झारखंड में ‘माफिया द्वारा भूमि के स्वामित्व को गैर कानूनी तरीके से बदलने के एक बड़े रैकेट’ की जांच के तहत सोरेन से पूछताछ की जा रही है।
मुख्यमंत्री आवास के पास धारा 144 लागू
राजधानी रांची के मुख्य स्थानों और मुख्यमंत्री आवास के सौ मीटर के दायरे में सुबह नौ बजे से रात दस बजे तक धारा 144 लागू की गई है। यहां पर किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं है। बड़ी संख्या में अद्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं। वहीं, भारी संख्या में पुलिस भी मौके पर है।
जेएमएम विधायकों का विरोध प्रदर्शन
मुख्यमंत्री से ईडी की पूछताछ शुरू किये जाने से पहले बुधवार सुबह ही झामुमो नीत गठबंधन के विधायक यहां उनके आवास पर पहुंच गए। स्वास्थ्य मंत्री और कांग्रेस नेता बन्ना गुप्ता ने कहा कि सोरेन जांच में सहयोग कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं का यह कर्तव्य है कि वे इस प्रकार की जांच ठीक ढंग से करें। राज्य के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि सभी विधायक मुख्यमंत्री के साथ हैं। इस बीच सोरेन के खिलाफ ईडी की कार्रवाई के विरोध में झामुमो समर्थकों ने पास के मोरहाबादी मैदान और कुछ अन्य स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया। एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘‘केन्द्र के निर्देश पर ईडी हमारे मुख्यमंत्री को जानबूझ कर परेशान कर रही है।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.