City Headlines

Home » गोरखपुर में योगी ने कहा, आशा की नजर से देख रहा विश्व समुदाय

गोरखपुर में योगी ने कहा, आशा की नजर से देख रहा विश्व समुदाय

तकनीकी रूप से तैयार हों युवा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

by Madhurendra
Deendayal Upadhyay, Gorakhpur University, Swami Vivekananda, Youth Empowerment Scheme, CM, Yogi, UP, Boys, Girls

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन में शनिवार को स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तीकरण योजना के तहत छात्र-छात्राओं को टैबलेट और स्मार्टफोन वितरित किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवाओं को यह टैबलेट और स्मार्टफोन देने के पीछे युवाओं की,विश्व समुदाय की जरूरतों को पूरा करने का उद्देश्य है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि युवाओं में ऊर्जा की कमी नहीं है। उन्हें अपने कर्तव्यों का एहसास होना चाहिए। अधिकारों की बात बाद में करें। जब हम कर्तव्य को वरीयता देंगे तब हमारे सामने देश प्रेम पहले होगा। अधिकार बाद का विषय है। पहले देश है और अंत में मैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्मार्टफोन और लैपटॉप देने का उद्देश्य युवाओं को तकनीकी रूप से सक्षम बनाना है। सरकार ने पाठ्यक्रम के हिसाब से पढ़ाई की व्यवस्था की है तो दूसरी तरफ वे अभ्युदय कोचिंग के सहारे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंच प्रण संकल्प की याद भी दिलाई। और कहा कि इससे युवाओं की आत्मनिर्भरता बढ़ेगी। उन्हें इसका पालन करना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शैक्षणिक संस्थाओंं से कहा कि संस्थान केवल शिक्षित नहीं करते हैं बल्कि युवाओं को ज्ञानवान बनाना भी उनका काम है। ज्ञानवान बनने के लिए युवाओं को भी संकल्पित भाव से पढ़ाई करनी होगी। उन्होंने कहा कि सोशल इंपैक्ट स्टडी में युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए। इसके लिए शैक्षणिक संस्थान युवाओं को निश्चित मानदेय दे और उनसे सोशल इंपैक्ट स्टडी का प्रोजेक्ट तैयार करवाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व में चल रहे तमाम युद्ध की चर्चा की और कहा कि अनेक देशों में इस समय युद्ध चल रहा है। वहां पर स्किल पावर की जरूरत है। इन देशों को स्किल पावर की जरूरत है। ये देश, भारत के युवाओं की ओर एक टकटकी लगाए देख रहे हैं। लेकिन हमारी तैयारी अधूरी है। इसकी तैयारी भी हम कर रहे हैं। स्किल्ड युवाओं को ऐसे देशों में भेजने की बातचीत चल रही है। इजराइल जैसे देश में कुछ युवाओं को भेजा भी जा चुका है। उन्हें वहां मुफ्त में रहने खाने की सुविधा तो है ही, एक से डेढ़ लाख रुपये प्रति माह सेलरी भी मिल रही है। यह टैबलेट और स्मार्ट फोन इसी के लिए दिये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा और उसके बाद वहां आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं के बावत भी जानकारियां दी। उन्होंने कहा कि अयोध्या में हर रोज 4 से 5 लाख लोग आ रहे हैं। वह वहां के होटल में ठहर रहे हैं। टैक्सियों का उपयोग कर रहे हैं। इस समय लोगों को अयोध्या की सड़कों के चौड़ीकरण की उपयोगिता समझ में आ रही होगी। अयोध्या के विकास को गति मिल रही है। आने वाले समय में अयोध्या का और अत्यधिक विकास होने वाला है। अयोध्यावासी एक नई दिशा में अग्रसर हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.