City Headlines

Home » ग्लोबल मार्केट पर अमेरिकी कर्ज संकट का दबाव , एशिया के बाज़ारों में भी सुस्ती

ग्लोबल मार्केट पर अमेरिकी कर्ज संकट का दबाव , एशिया के बाज़ारों में भी सुस्ती

by Sanjeev

नई दिल्ली । वैश्विक बाजार से आज एक बार फिर दबाव की जानकारी मिल रही है। अमेरिका में कर्ज संकट को लेकर बनी अनिश्चितता के कारण लगातार दबाव बना हुआ है। वॉल स्ट्रीट के तीनों सूचकांक पिछले सत्र के कारोबार के दौरान गिरावट के साथ कारोबार करते नजर आए। हालांकि सॉफ्टवेयर कंपनी एन-वीडीया के जोरदार प्रदर्शन की वजह से अमेरिकी बाजार के 2 सूचकांकों ने आखिरी वक्त में जबरदस्त छलांग भी लगाई। यूएस फ्यूचर्स में भी आज दबाव दिख रहा है। इसी तरह यूरोपीय बाजार में भी पिछले सत्र के कारोबार के दौरान लगातार दबाव बना रहा। एशियाई बाजार भी आज आमतौर पर दबाव की स्थिति में ही कारोबार करते नजर आ रहे हैं।
कर्ज संकट को लेकर बनी अनिश्चितता ने वॉल स्ट्रीट पर पिछले कई दिनों से लगातार दबाव बनाया हुआ है। इसकी वजह से पिछले सत्र के कारोबार में डाओ जोंस 0.11 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 32,764.65 अंक के स्तर पर बंद हुआ। दूसरी ओर कारोबारी सत्र के आखिरी चरण में एन-वीडीया के शेयर में आई 24 प्रतिशत की जोरदार तेजी के कारण एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 0.88 प्रतिशत की छलांग लगाकर 4,151.28 अंक के स्तर पर पिछले सत्र के कारोबार का अंत किया। इसी तरह नैस्डेक एन-वीडीया में आई तेजी के सपोर्ट से 213.93 अंक यानी 1.71 प्रतिशत की बढ़त के साथ 12,698.09 अंक के स्तर पर बंद हुआ।
जानकारों का मानना है कि डेट सीलिंग को लेकर अमेरिकी प्रशासन लगातार किसी सार्थक नतीजे पर पहुंचने की कोशिश कर रहा है, लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं होने की वजह से बाजार में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। कल ही डेट सेलिंग पर राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अपने बयान में कहा था कि इस मुद्दे को लेकर कई दौर की बातचीत हुई है और अभी तक की बातचीत सार्थक नजर आ रही है। दूसरी ओर रिपब्लिकन स्पीकर केविन मैकार्थी ने अपने बयान में कहा है कि डेट सीलिंग को लेकर दोनों पक्ष मतभेद कम करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अभी तक बात किसी ठोस समझौते के स्तर तक नहीं पहुंच सकी है। माना जा रहा है कि इसी अनिश्चितता के कारण अमेरिकी बाजार में लगातार तनाव बना हुआ है।
अमेरिकी बाजार में तनाव का असर पिछले कारोबारी सत्र के दौरान यूरोपीय बाजार में भी नजर आया। एफटीएसई इंडेक्स 56.23 अंक यानी 0.74 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 7,570.87 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह सीएसी इंडेक्स ने 0.33 प्रतिशत की गिरावट के साथ 7,229.27 अंक के स्तर पर पिछले सत्र के कारोबार का का अंत किया। इसके अलावा डीएएक्स इंडेक्स 0.3 1 प्रतिशत टूट कर 15,793.80 अंक के स्तर पर बंद हुआ।
एशियाई बाजारों में भी आज आमतौर पर दबाव बना हुआ नजर आ रहा है। भारत के अलावा एशिया के 9 बाजारों में से सिर्फ 3 सूचकांक मजबूती के साथ कारोबार कर रहे हैं, जबकि 6 सूचकांक गिरकर लाल निशान में पहुंच चुके हैं। निक्केई इंडेक्स 194.82 अंक यानी 0.63 प्रतिशत की तेजी के साथ 30,995.95 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसी तरह ताइवान वेटेड इंडेक्स 195.38 अंक यानी 1.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 16,487.31 अंक और कोस्पी इंडेक्स 0.17 प्रतिशत की मजबूती के साथ फिलहाल 2,559.2 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहे हैं।
दूसरी ओर एसजीएक्स निफ्टी 0.09 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 18,449.50 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसी तरह स्ट्रेट्स टाइम्स इंडेक्स 0.04 प्रतिशत फिसल कर 3,206.53 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। हैंग सेंग इंडेक्स में आज एक बार फिर बड़ी गिरावट आई है। ये सूचकांक 369.01 अंक यानी 1.97 प्रतिशत टूट कर 18,746.92 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसके अलावा सेट कंपोजिट इंडेक्स 0.27 प्रतिशत गिर कर 1,531.21 अंक के स्तर पर, जकार्ता कंपोजिट इंडेक्स 0.10 प्रतिशत की नरमी के साथ 6,697.24 अंक के स्तर पर और शंघाई कंपोजिट इंडेक्स 0.14 प्रतिशत की गिरावट के साथ 3,196.89 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहे हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.