City Headlines

Home » माफिया अतीक के पुत्र असद का शव प्रयागराज के कसारी-मसारी में सुपुर्दे खाक

माफिया अतीक के पुत्र असद का शव प्रयागराज के कसारी-मसारी में सुपुर्दे खाक

जनाजे में नाना, मौसा सहित 35 रिश्तेदार हुए शामिल, अतीक, माँ शाइस्ता नहीं देख पाए आखिरी बार असद का मुँह

by Sanjeev

प्रयागराज । माफिया अतीक अहमद के बेटे असद का शव जिले के के कसारी-मसारी स्थित कब्रिस्तान में आज (शनिवार) भारी सुरक्षा के बीच दफनाया गया। उसके जनाजे में नाना और मौसा सहित कुल 35 करीबी रिश्तेदार शामिल हुए।
कब्रिस्तान में अपर आयुक्त आकाश कुलहरी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल मौजूद रहा। बाहर पुलिस ने बैरियर लगाया था। उसके आगे मीडिया के लोगों को भी जाने की इजाजत नहीं थी। आसपास के लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी गई थी। इससे सन्नाटा पसरा रहा। ड्रोन से भी निगरानी की गई। इसका कारण शाइस्ता के आने की सम्भावना थी। कब्रिस्तान के अंदर पुलिस ने रजिस्टर रखा था। उसमें आईडी सहित नाम लिखकर ही कुछ लोगों को अंदर जाने दिया।
उल्लेखनीय है पुलिस मुठभेड़ में मारे गए असद की मां शाइस्ता परवीन फरार है और उसके ऊपर 50 हजार का इनाम है। बेटे के मोह में उसके सरेंडर करने की सम्भावना जताई जा रही थी। पुलिस के मुताबिक अतीक के दो बेटे अली और उमर बाल सुधार गृह में हैं। भाई अशरफ भी जेल में है। बाकी शाइस्ता सहित अन्य नजदीकी परिवारी जन फरार हैं।
उधर अतीक अहमद और उसके छोटे भाई अशरफ को लेकर प्रयागराज की पुलिस शुक्रवार रात कौशांबी पहुंची। उसे संदीपन घाट थाना क्षेत्र स्थित महंगाई कस्बा लाया गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जांच टीम में ईडी के अधिकारी भी मौजूद थे। उन्होंने अतीक से उसकी बेनामी संपत्ति कहां-कहां और किस-किस के जरिए संचालित होती है। इस बारे में पता लगाने की कोशिश की।
अधिकारी अभी उससे पूछताछ कर ही रहे थे कि अतीक की तबीयत बिगड़ गई। उसने सीने में दर्द और घबराहट होने की बात कही। जिसके बाद पुलिस उसे वापस लेकर प्रयागराज के कॉल्विन हॉस्पिटल पहुंची। जहां पर डॉक्टरों ने उसका 15 मिनट तक चेक-अप किया। उसके बाद पुलिस उसे लेकर अस्पताल से बाहर आ गई। इसी बीच असद के एनकाउंटर पर अशरफ ने कहा, अल्लाह की चीज थी, अल्लाह ने ले ली ।
कस्टडी रिमांड मिलने के बाद गुरुवार की रात 10.30 बजे से दोनों को प्रयागराज के धूमनगंज थाने में रखा गया था। यहां दोनों से अलग-अलग और आमने-सामने बैठाकर कई राउंड पूछताछ हुई। सोने के लिए दोनों को बोरे का बिस्तर दिया गया।
शुक्रवार की रात 9 बजे तक कुल 23 घंटे पूछताछ हुई। उसके बाद धूमनगंज थाने की पुलिस अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को लेकर कौशांबी के लिए निकली। माना जा रहा है कि अतीक अहमद पाकिस्तान से मंगाए गए हथियारों की बरामदगी करा सकता है।
अतीक ने इंट्रोगेशन में कुबूला है कि वो पाकिस्तान से ड्रोन के माध्यम से बार्डर पास कराकर अत्याधुनिक हथियार मंगाता था। हथियारों का जखीरा बरामद करने में पुलिस को सफलता मिल सकती है। अतीक के साथ जांच अधिकारी धूमनगंथ इंस्पेक्टर राजेश शर्मा और बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स है।
पुलिस सूत्रों के मुताबिक इंटेरोगेशन के दौरान अतीक बार-बार एनकाउंटर में मारे गए बेटे असद के जनाजे में शामिल होने की मिन्नतें करता रहा। अतीक ने पुलिस अफसरों से बेटे की तस्वीर भी दिखाने को कहा। हालांकि पुलिस पूरी तरह पूछताछ पर फोकस रही क्योंकि माफिया की सिर्फ 4 दिन की रिमांड ही पुलिस को मिली है।
पुलिस के 200 सवालों के सामने माफिया कभी असहज और कभी उग्र नजर आया। ज्यादातर सवालों का जवाब देने से कतराता रहा। केवल हां, हूं में जवाब देता रहा। हालांकि बार-बार सवाल पूछने पर उसने कई बार जांच अधिकारियों को आंखें भी दिखाईं।
उमेश पाल की हत्या की एफआईआर उनकी पत्नी जया ने धूमनगंज थाने में 24 फरवरी को दर्ज कराई थी। इसमें अतीक, उसका भाई अशरफ, अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन, असद समेत 9 लोगों को नामजद किया गया था।
धूमनगंज थाने जाने वाली सड़क को बैरिकेडिंग कर बंद कर दिया गया है। किसी को थाने के आसपास भी फटकने नहीं दिया जा रहा है। उमेश पाल मर्डर केस की जांच कर रहे थानाध्यक्ष धूमनगंज राजेश कुमार मौर्य ने अतीक-अशरफ की रिमांड मांगने के लिए कोर्ट में दलील दी थी।
अतीक ने माना- आतंकियों को हथियार सप्लाई किए
प्रयागराज पुलिस ने कोर्ट को दी रिमांड कॉपी में अतीक अहमद का पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबंध का खुलासा किया है। रिमांड कॉपी में माफिया अतीक से मिली जानकारी के हवाले से बताया गया है, ‘मेरे पाकिस्तान के आईएसआई और आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबंध हैं। मेरे पास हथियारों की कोई कमी नहीं है।’
‘पाकिस्तान से हथियार ड्रोन की मदद से पंजाब सीमा पर गिराए जाते हैं और स्थानीय कनेक्शन उन्हें इकट्ठा करते हैं। इसी खेप से जम्मू-कश्मीर में आतंकियों को हथियार मिलते हैं। यदि आप मुझे अपने साथ ले जाएं, तो मैं उस पैसे और घटना में इस्तेमाल किए गए हथियार और गोला-बारूद को बरामद करने में आपकी मदद कर सकता हूं।’
फतेहपुर में अतीक के 37 करीबियों के घर पर छापेमारी, सपा नेता फरार
उधर, प्रयागराज से सटे जिले फतेहपुर में पुलिस ने गुरुवार रात अतीक के 37 करीबियों के घर पर छापेमारी की। पुलिस सपा नेता हाजी रफी और हाजी रजा के घर भी पहुंची, लेकिन घर में कोई नहीं मिला। यहां प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त को लेकर कार्रवाई की गई। कोतवाली इंस्पेक्टर अमित कुमार मिश्र ने बताया कि रात तक छापेमारी की गई। माफिया अतीक और उसके गुर्गों से कनेक्शन रखने वालों पर शिकंजा कसा जा रहा है।

 

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.