City Headlines

Home » कानपुर: कोरोना पॉजिटिव मिले आईआईटी प्रोफेसर व चिकित्सक समेत 14 लोग

कानपुर: कोरोना पॉजिटिव मिले आईआईटी प्रोफेसर व चिकित्सक समेत 14 लोग

by Madhurendra
Alert, Kanpur, Corona positive, IIT professor, Doctor, Corona patient, Infected, Flu symptoms

कानपुर। कोरोना मरीजों की संख्या में फिर से वृद्धि हो रही है। बीते छह माह बाद एक दिन में 14 संक्रमित मरीज सामने आए हैं। जिसमें आईआईटी के प्रोफेसर और चिकित्सक भी शामिल हैं। अधिकांश में फ्लू जैसे लक्षण हैं। अब तक संक्रमितों की संख्या 31 हो चुकी है। जबकि 22 अगस्त 2022 को कोरोना के 15 मरीज पॉजिटिव मिले थे।

कोरोना के प्रभारी अधिकारी चिकित्सक आरपी मिश्रा ने बताया कि जुकाम, बुखार, खांसी जैसे लक्षण के रोगियों की जांच के दौरान संक्रमित पाए जा रहे हैं। संक्रमितों में आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर 35 वर्ष, चिकित्सक 42 वर्ष, हरजिंदर नगर, बेनाझाबर, लाल कॉलोनी, न्यू आजाद नगर और जय प्रकाश नगर, काकादेव में रहने वाले लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

उन्होंने बताया कि मुंबई से लौटे 74 वर्षीय बुजुर्ग भी संक्रमित पाए गए हैं। नारामऊ के फार्म हाउस में काम करने वाला एक युवक भी है। इन मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग कराई जा रही है। रैपिड रिस्पांस टीमें सक्रिय, सभी की सैंपलिंग होगी, मामले बढ़ने पर रैपिड रिस्पांस टीमों ने संक्रमितों का ब्योरा एकत्र करना शुरू कर दिया है।
1249 लोगों के लिए सैंपल
स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 24 घंटे में 1249 लोगों के सैंपल लिए, इनमें मुख्य चिकित्साधिकारी की टीम द्वारा 1180 सैंपल लिए। वहीं, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में सिर्फ तीन सैंपल की जांच की गई है। उर्सला में 31 सैंपल की जांच की गई। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आलोक रंजन ने लोगों से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है।
जिलाधिकारी ने कोरोना को लेकर जारी की चेतावनी
जिलाधिकारी विशाख जी के मुताबिक कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। इसको लेकर अलर्ट जारी किया गया है। जांचें बढ़ाई जा रही हैं। वहीं नगर निगम स्थित कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से मॉनिटरिंग को भी बढ़ाया जा रहा है। हेल्पलाइन नंबर शुरू कर गया है। पारा होने के साथ वायरल संक्रमण फिर तेज हो गया है। रोगियों में नए तरह के लक्षण मिल रहे हैं। रोगियों को ठंडे कमरे से अचानक बाहर गर्म में न बुखार एक-दो दिन होकर उतर जा रहा है आएं लेकिन उसकी कमजोरी 20-25 दिन बनी रहती है। बिना बुखार के सांस की दिक्कत बढ़ जा रही है।
पोस्ट वायरल लक्षण ज्यादा : फिजिशियन
फिजीशियन डॉ. बीपी प्रियदर्शी ने बताया कि कोरोना के रोगियों को नाक और गले की एलर्जी के साथ सांस फूलना, पेट में दर्द और मिचली के लक्षण बने रहते हैं। पोस्ट वायरल लक्षण बने रहते हैं। इस बार रोगियों में ये नए लक्षण मिल रहे। बुखार अधिक दिनों तक नहीं रहता, लेकिन कमजोरी सामान्य से अधिक दिनों तक खिंच रही है। इसके साथ ही अन्य लक्षण भी आते हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.