City Headlines

Home » सत्तर के दशक के लखनऊ की झलक मिलती है ‘बनवारी की अम्मा’ फिल्म में

सत्तर के दशक के लखनऊ की झलक मिलती है ‘बनवारी की अम्मा’ फिल्म में

लखनऊ के नावेल्टी सिनेमा हाल में हुआ फिल्म का प्रीमियर शो

by Sanjeev

लखनऊ । छोटे बजट में बनाई गयी फिल्म ‘बनवारी की अम्मा’ में 70 के दशक का लखनऊ दिखाया गया है । फिल्म का रविवार को लखनऊ के नावेल्टी सिनेमा हाल में प्रीमियर शो हुआ। मुख्यमंत्री के सलाहकार अवनीश अवस्थी और उनकी पत्नी एवं प्रसिद्ध लोक गायिका मालिनी अवस्थी के प्रीमियर शो के मुख्य अतिथि थीं।
फिल्म के निर्देशक, पटकथा लेखक ओ.पी. श्रीवास्तव ने बताया कि यह फिल्म 70 के दशक की पृष्ठभूमि पर आधारित है। इसमें उसी समय के चीजों, पारिवारिक व सामाजिक व्यवहारों को दिखाया गया। 50 की उम्र के बाद के लोगों को फिल्म देखकर एक बारगी पुराना जमाना याद आ जाएगा।
निर्देशक ने बताया कि फिल्म की शूटिंग शहर के त्रिवेणी नगर में हुई। इसमें अधिकांश कलाकार इसी शहर के हैं। फिल्म की कहानी एक बूढ़ी महिला के इर्द-गिर्द घूमती हैं, जो दूसरों के घरों में जाकर दाल पीसने का काम करती है जो कचौड़ी बनाने के काम में आती है।
फिल्म के निर्देशक ओपी श्रीवास्तव ने बताया कि यह अवधी, हिन्दी और अंग्रेजी भाषा में बनाई गई। इसकी सिनेमेटोग्राफी जी.एस. भाष्कर ने की है। इसमें संगीत हेम चंद्र का है और गाने संगीता मिश्रा ने गाए हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.