City Headlines

Home » पाकिस्तान का वित्त मंत्रालय धन के अभाव में चुनाव कराने में असमर्थ

पाकिस्तान का वित्त मंत्रालय धन के अभाव में चुनाव कराने में असमर्थ

by Sanjeev

इस्लामाबाद । पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ भले ही जल्दी चुनाव कराने के लिए आंदोलन चला रही हो , लेकिन मुल्क की माली हालत ठीक नहीं है कि इस समय चुनाव कराये जा सके। इसी को लेकर पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय के पास चुनाव कराने के लिए जरूरी धन नहीं है।
पाकिस्तान की तहरीक ए इंसाफ पार्टी की तत्कालीन सरकारों ने 14 और 18 जनवरी को पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों की विधानसभाओं को भंग कर दिया था। इसके बाद एक मार्च को पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा भंग होने के 90 दिनों के भीतर दोनों राज्यों में चुनाव कराने का आदेश दिया था। इसके तहत अप्रैल में पंजाब और मई में खैबर पख्तूनख्वा में चुनाव होने थे लेकिन अब चुनाव आयोग ने पंजाब में होने वाले प्रांतीय चुनाव को स्थगित करने का आदेश दिया है। देश में कानून व्यवस्था की खराब स्थिति का हवाला देते हुए चुनाव आयोग ने यह कदम उठाया है। जिसका इमरान खान की पार्टी द्वारा विरोध किया जा रहा है।
इस विरोध के बीच ही पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ का बयान चर्चा में आ गया है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया से बातचीत में ख्वाजा आसिफ ने कहा कि देश के वित्त मंत्रालय के पास चुनाव कराने के पैसे नहीं हैं।
उनके इस बयान से साफ इशारा मिल रहा है कि पाकिस्तान की सरकार फिलहाल चुनाव नहीं कराना चाहती और इसे इमरान खान के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। ख्वाजा आसिफ ने ये भी कहा कि इमरान खान की पार्टी की तत्कालीन सरकारों द्वारा राज्य विधानसभाओं को भंग करना असंवैधानिक था। उन्होंने कहा कि देश की सत्ता से इमरान खान को संवैधानिक तरीके से ही बाहर किया गया था। वह विश्वास मत से हारे और अब वह कोर्ट के सामने भी पेश नहीं हो रहे हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.