City Headlines

Home » कठोर सर्दी अवधि चिल्लई-कलां की चपेट में कश्मीर घाटी, अगले 48 घंटों में बर्फबारी की संभावना

कठोर सर्दी अवधि चिल्लई-कलां की चपेट में कश्मीर घाटी, अगले 48 घंटों में बर्फबारी की संभावना

by Madhurendra
fog, cold wave, cold, safdarjung, north india, flight, delayed, train, late, airplane, visibility

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में बर्फबारी की संभावना जताई है। वहीं रविवार को कश्मीर घाटी में अधिकांश स्थानों पर न्यूनतम तापमान में और वृद्धि दर्ज की गई।
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि श्रीनगर में कल रात के शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस कम तापमान के मुकाबले शून्य से 0.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया। काजीगुंड में न्यूनतम तापमान माइनस 1.6 डिग्री दर्ज किया गया। पहलगाम में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि पिछली रात का तापमान शून्य से 2.8 डिग्री सेल्सियस नीचे था। अनंतनाग जिले के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में इस मौसम की सबसे ठंडी रात 2 जनवरी को दर्ज की गई तब यहां पारा शून्य से 9.6 डिग्री सेल्सियस नीचे गिर गया था। कोकेरनाग में न्यूनतम तापमान शून्य से 1.6 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जबकि पिछली रात यहा तापमान शून्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस नीचे था।
गुलमर्ग में पिछली रात का तापमान शून्य से 2.6 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। कुपवाड़ा शहर में पारा 0.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि पिछली रात उत्तरी कश्मीर क्षेत्र में यह शून्य से 2.6 डिग्री सेल्सियस नीचे था।
जम्मू में न्यूनतम तापमान 5.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बनिहाल में न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस, बटोटे में 6.9 डिग्री सेल्सियस, कटरा में 10.2 डिग्री सेल्सियस और भद्रवाह में 4.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
मौसम विभाग के अधिकारी ने 8 से 9 जनवरी को जम्मू-कश्मीर के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बर्फबारी और बारिश की संभावना जताई है। 10-11 जनवरी तक उन्होंने कहा कि आमतौर पर बादल छाए रहने की संभावना हैं। 12-13 जनवरी से उन्होंने कहा कि घाटी में हिमपात, जम्मू के मैदानी इलाकों में बारिश की संभावना है। अधिकारी ने कहा कि लेह और कारगिल में न्यूनतम तापमान शून्य से 10.8 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया।
कश्मीर चिल्लई-कलां की चपेट में है जो 40 दिनों की कठोर सर्दियों की अवधि है और 21 दिसंबर से शुरू हुई थी। इसके बाद 20 दिनों की अवधि चिल्लई-खुर्द कहलाती है जो 30 जनवरी से 19 फरवरी के बीच होती है। 10 दिन की लंबी अवधि चिल्लई-बच्चा जो 20 फरवरी से 1 मार्च तक है।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.