City Headlines

Home » तरुण तेजपाल केस की सुनवाई इन कैमरा नहीं होगी, सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिल पायी राहत

तरुण तेजपाल केस की सुनवाई इन कैमरा नहीं होगी, सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिल पायी राहत

by Sanjeev
Supreme Court, Collegium, Recommendation, Decision, Government, Law Minister, Attorney General, Solicitor General

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट का मानना है की अरुण तेजपाल को यह मांग करने का अधिकार नहीं है कि उनके केस की सुनवाई बंद कमरे में की जाये। इस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने सहयोगी से रेप के आरोपित तहलका के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को कोई राहत नहीं दी। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि वे बांबे हाई कोर्ट के आदेश में दखल नहीं देना चाहते हैं। कोर्ट ने कहा कि आरोपित के पास यह कहने का अधिकार नहीं है कि मामले की सुनवाई बंद कमरे में की जाए।
सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप से इनकार करने के बाद बांबे हाई कोर्ट में मामले की सुनवाई आम तौर पर होने वाली सुनवाई की तरह जारी रहेगी। तरुण तेजपाल ने बांबे हाई कोर्ट में मामले की अपील की इन-कैमरा सुनवाई की मांग की थी। बांबे हाई कोर्ट ने 24 नवंबर 2021 को तरुण तेजपाल की याचिका खारिज कर दी थी। हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ तेजपाल ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।
दरअसल, तेजपाल को गोवा की ट्रायल कोर्ट ने आरोपों से बरी कर दिया था। ट्रायल कोर्ट के फैसले के खिलाफ गोवा सरकार ने बांबे हाई कोर्ट का दरवाजा खट-खटाया था। हाई कोर्ट में तेजपाल ने इन कैमरा सुनवाई की मांग की थी, जिसे हाई कोर्ट ने खारिज कर दी थी।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.