City Headlines

Home » Russia-Ukraine War: यूक्रेन के 87 सैन्य ठिकानों पर की एयरस्ट्राइक, मारे गए 500 यूक्रेनी सैनिक, रूस ने किया दावा

Russia-Ukraine War: यूक्रेन के 87 सैन्य ठिकानों पर की एयरस्ट्राइक, मारे गए 500 यूक्रेनी सैनिक, रूस ने किया दावा

by

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग (Russia-Ukraine War) दो महीने से अधिक वक्त से चल रही है. दोनों पक्षों ने अभी तक इस युद्ध में अपने कई सैनिकों को गंवा दिया है. हालांकि, इसके बाद भी अभी तक युद्ध की समाप्ति नहीं हो पाई है. वहीं, रूस (Russia) ने दावा किया है कि उसने कल रात 500 यूक्रेनी सैनिकों को ढेर किया है. रूसी समाचार एजेंसी तास के मुताबिक, रूसी एयरफोर्स (Russian Air Force) ने रात के समय यूक्रेन की सेना के 87 यूक्रेनी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया है. इस हमले में यूक्रेनी सेना के 500 सैनिक मारे गए हैं. हालांकि, अभी तक यूक्रेन ने इस हमले की पुष्टि नहीं की है.

वहीं, दोनेत्सक क्षेत्र में रूसी गोलाबारी में सोमवार को चार लोगों की मौत हो गई और नौ अन्य घायल हो गए. क्षेत्र के गवर्नर पावलो किरिलेंको ने मैसेजिंग ऐप टेलीग्राम पर बताया कि पीड़ितों में से दो बच्चे थे, जिनमें से एक 9 साल की लड़की और एक 14 साल का लड़का था. लुहांस्क क्षेत्र के गवर्नर सेरही हैदई ने कहा कि रूस ने पिछले 24 घंटों में नागरिकों पर 17 बार गोलाबारी की है. इसमें पोपसना, लिसिचांस्क और गिर्सके शहर सबसे अधिक प्रभावित हैं. हैदई ने कमंगलवार को टेलीग्राम पर कहा, पोपसना ने चार शक्तिशाली हमलों का सामना किया और लिसिचांस्क ने दो का सामना किया. लिसिचांस्क में दो घरों, पोपसना में दो, गिर्सके में कम से कम एक घर को नुकसान हुआ है. हम पीड़ितों के बारे में जानकारी की पड़ताल कर रहे हैं.

रूस ने यूक्रेन पर लगाया तीसरे विश्व युद्ध के लिए भड़काने का आरोप

दूसरी ओर, मॉस्को के शीर्ष राजनयिक ने तीसरे विश्व युद्ध को भड़काने के खिलाफ यूक्रेन को चेतावनी दी और कहा कि परमाणु संघर्ष के खतरे को कम करके नहीं आंका जाना चाहिए. दरअसल, अमेरिका ने इस बीच यूक्रेन को और हथियार देने की घोषणा की है और कहा कि पश्चिमी सहयोगियों की मदद से दो माह से चल रहे युद्ध में असर पड़ा है. यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की से मिलने के लिए रक्षा मंत्री के साथ कीव का दौरा करने के एक दिन बाद अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने घोषणा की थी, रूस नाकाम हो रहा है. यूक्रेन सफल हो रहा है.

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा था, हम यूक्रेन को एक संप्रभु देश के रूप में देखना चाहते हैं. एक लोकतांत्रिक देश अपने संप्रभु क्षेत्र की रक्षा करने में सक्षम है. हम रूस को उस बिंदु तक कमजोर देखना चाहते हैं जहां वह यूक्रेन पर हमले जैसे कदम न उठा सके. ऑस्टिन को एक स्पष्ट प्रतिक्रिया में, रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा कि रूस को प्रतीत होता है कि पश्चिम चाहता है कि यूक्रेन लड़ाई जारी रखे और, जैसा कि उन्हें लगता है कि यह रूसी सेना और रूसी सैन्य उद्योग को समाप्त कर देगा। यह एक भ्रम है.

उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों द्वारा की गई हथियारों की आपूर्ति एक वैध लक्ष्य है और रूसी बलों ने पहले ही पश्चिमी यूक्रेन में हथियारों के भंडारगृह को निशाना बनाया है. लावरोव ने यूक्रेनी नेताओं पर नाटो को संघर्ष में शामिल होने के लिए कहकर रूस को उकसाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि नाटो प्रभावी रूप से छद्म रूप से रूस के साथ युद्ध में शामिल है और परदे के पीछे से हथियार मुहैया करा रहा है. उन्होंने रूसी टेलीविजन पर एक व्यापक साक्षात्कार में कहा हर कोई यही कह रहा है कि हम किसी भी स्थिति में तीसरे विश्व युद्ध की अनुमति नहीं दे सकते.

Leave a Comment

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.

Generated by Feedzy