City Headlines

Home » Delhi: मोटापे से पीड़ित थे दो भाई, रोबोटिक सर्जरी से डॉक्टरों ने किया इलाज़

Delhi: मोटापे से पीड़ित थे दो भाई, रोबोटिक सर्जरी से डॉक्टरों ने किया इलाज़

by

मोटापे (Obesity) की बीमारी से पीड़ित दिल्ली के दो भाइयों मानविंदर सिंह गुजराल और मनप्रीत सिंह का वजन क्रमश: 205 किलो और 168 किलो हो गया था,ये दोनों मोटापे से जुड़ी कई बीमारियों से जूझ रहे थे. मोटापे की वजह से इनको स्लीप एप्नीया, डायबिटीज और हाइपरटेंशन जैसी बीमारियां भी हो गई थी. 43 वर्षीय मानविंदर का बीएमआई 79.9 है और पिछले 25 वर्षों से वह मोटापे की बीमारी से पीड़ित है. वर्ष 2020 की शुरुआत में उनका वजन 135 किलो था. लॉकडाउन के दौरान उन्होंने अतिरिक्त 70 किलो वजन बढ़ा लिया. इसी तरह उनका छोटा भाई पिछले 20 साल से मोटापे से जूझ रहा था और लॉकडाउन के दौरान उनका वजन भी काफी बढ़ गया था. बढ़ते वजन के कारण दोनों को काफी परेशानी हो रही थी. ऐसे में इनको दिल्ली के मैक्स अस्पताल लाया गया.

मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, पटपड़गंज में मैक्स इंस्टीट्यूट ऑफ मिनिमल एक्सेस, बैरियाट्रिक एंड रोबोटिक सर्जरी के प्रमुख डॉ. विवेक बिंदल के नेतृत्व में विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने दोनों मरीजों का आपरेशन किया. दोनों भाइयों का क्रमश: 20 किलो और 17 किलो वजन कम हो गया.डॉ. विवेक बिंदल ने कहा, ‘मानविंदर की स्थिति गंभीर थी क्योंकि वह लिवर सिरोसिस से भी पीड़ित था. इससे बड़ी दिक्कतें हो रही थीं जिन्हें तत्काल दूर करने की जरूरत थी. इसी तरह मनप्रीत को डायबिटीज और हाइपरटेंशन था. हमने मनप्रीत पर रोबोटिक बैरियाट्रिक सर्जरी अपनाई जबकि मानविंदर की लेपरोस्कोपिक बैरियाट्रिक सर्जरी और कोलेसिस्टेक्टोमी की. दोनों केस में चुनौतियां थी. एनेस्थेसिया का उन्हें नियंत्रित रखना, चर्बी की परत के अंदर पेट तक पहुंच बनाना, ओटी टेबल पर उन्हें फिट रखना आदि.

इन चीजों के सेवन से बढ़ता है मोटापे का खतरा

डॉ. बिंदल कहते हैं कि अत्यधिक प्रोसेस्ड फूड का सेवन और श्रमरहित लाइफस्टाइल जीने से मोटापे का खतरा बढ़ जाता है और इस वजह से बच्चों तथा वयस्कों में टाइप टू डायबिटीज, हाइपरटेंशन और कार्डियक समस्याओं समेत कई प्रतिकूल परिणाम भी सामने आने लगते हैं.

मैक्स हॉस्पिटल, पटपड़गंज में वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं प्रमुख डॉ. कौसर शाह ने कहा, ‘मोटापा लाइफस्टाइल से जुड़ी एक बड़ी बीमारी है. इस वजह से डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, कार्डियक समस्याएं, अनिद्रा, जोड़ों का दर्द, नि:संतानता आदि जैसी कई गंभीर समस्याएं भी उत्पन्न हो जाती हैं.

मोटापे की वजह से हो रही मौतें

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) को कद के हिसाब से वजन के पैमाने के तौर पर देखा जाता है और 25 से ज्यादा बीएमआई होने पर अधिक वजन और 30 से अधिक होने पर मोटापा माना जाता है.
ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज के मुताबिक, यह समस्या महामारी की तरह बढ़ी है और हर साल अधिक वजन या मोटापे के कारण 2017 से हर साल 40 लाख लोगों की मौत हो रही है.

Leave a Comment

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.

Generated by Feedzy