City Headlines

Home » कांग्रेस में शामिल होने से इनकार के बीच प्रशांत किशोर से मिले नवजोत सिद्धू, PK को बताया पुराना दोस्त

कांग्रेस में शामिल होने से इनकार के बीच प्रशांत किशोर से मिले नवजोत सिद्धू, PK को बताया पुराना दोस्त

by

कांग्रेस में शामिल होने से इनकार के बीच जानेमाने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने एक सेल्फी पोस्ट की है. सिद्धू ने सेल्फी ऐसे समय पर पोस्ट की है, जब किशोर (Prashant Kishor) ने कांग्रेस में शामिल होने के पार्टी (Congress) के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. पीके के साथ अपनी सेल्फी पोस्ट करते हुए सिद्धू ने एक ट्वीट में कहा, ‘मेरे पुराने दोस्त पीके (प्रशांत किशोर) के साथ मेरी शानदार मुलाकात हुई. पुरानी वाइन, पुराना गोल्ड और पुराने दोस्त बेहतरीन होते हैं.’

कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि किशोर को ‘विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह -2024’ का हिस्सा बनकर पार्टी में शामिल होने की पेशकश की गई थी. हालांकि उन्होंने इनकार कर दिया. इसपर किशोर ने कहा कि कांग्रेस की ढांचागत समस्याओं को दूर करने के लिए नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति का होना उनसे ज्यादा जरूरी है. दरअसल, पिछले कई दिनों से किशोर की ओर से दिए गए सुझावों और उनके पार्टी से जुड़ने की संभावना को लेकर कांग्रेस के अंदर लगातार मंथन हो रहा था.

Had a wonderful meeting with my old friend PK Old wine , Old gold and Old friends still the best !!! pic.twitter.com/OqOvkJqJmF

— Navjot Singh Sidhu (@sherryontopp) April 26, 2022

कांग्रेस ने की थी पार्टी में शामिल होने की पेशकश

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने ट्वीट कर बताया, ‘प्रशांत किशोर की प्रस्तुति और उनके साथ चर्चा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने ‘विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह-2024′ का गठन किया और किशोर को निर्धारित जिम्मेदारी के साथ इस समूह का हिस्सा बनकर पार्टी में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया. हालांकि उन्होंने पार्टी में शामिल होने से इनकार कर दिया.’ सुरजेवाला के इस ट्वीट के कुछ देर बाद किशोर ने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने विशेषाधिकार प्राप्त कार्य समूह का हिस्सा बनकर पार्टी में शामिल होने और चुनावों की जिम्मेदारी लेने की कांग्रेस की पेशकश को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है.’

किशोर ने दी नए सिरे से रणनीति बनाने की सलाह

किशोर ने यह भी कहा, ‘मेरी विनम्र राय है कि मुझसे ज्यादा पार्टी को नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है ताकि परिवर्तनकारी सुधारों के माध्यम से पार्टी के भीतर घर कर चुकी ढांचागत समस्याओं को दूर किया जा सके.’ गौरतलब है कि प्रशांत किशोर ने बीते दिनों कांग्रेस नेतृत्व के समक्ष पार्टी को मजबूत करने और अगले लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर एक विस्तृत प्रस्तुति दी थी. उनके सुझावों पर विचार करने के लिए सोनिया गांधी ने आठ सदस्यीय समिति का गठन किया था. सूत्रों ने बताया कि किशोर ने सुझाव दिया कि उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा जैसे कुछ राज्यों में कांग्रेस को नए सिरे से अपनी रणनीति बनानी चाहिए और इन प्रदेशों में गठबंधन से परहेज करना चाहिए.

Leave a Comment

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.

Generated by Feedzy