City Headlines

Home » सुनीता विलियम्स ने अंतरिक्ष में कैसे फंसी, इसका कारण क्या था? उसके स्पेसक्राफ्ट में क्या खराबी आई थी?

सुनीता विलियम्स ने अंतरिक्ष में कैसे फंसी, इसका कारण क्या था? उसके स्पेसक्राफ्ट में क्या खराबी आई थी?

by Nikhil

सुनीता विलियम्स, जो भारतीय मूल की हैं, अपने सहयात्री बुश विलमोर के साथ एक मिशन के तहत अंतरिक्ष में आठ दिनों के लिए गईं थीं। लेकिन उन्हें अंतरिक्ष में गए हुए तीन हफ्ते से अधिक का समय बीत चुका है, और अभी तक वे धरती पर वापस नहीं आई हैं। अमेरिका के विशेष मिशन के तहत, अंतरिक्ष स्टेशन पर भेजे गए उन अंतरिक्ष यात्रियों का एक दल, जो अंतरिक्ष क्राफ्ट में खराबी के कारण फंसे हुए हैं, उन्हें अभी और अधिक समय तक रुकना पड़ेगा। नासा ने इस बारे में बताया कि इन यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर रुकना पड़ रहा है, क्योंकि उन्हें वहां उनके नए अंतरिक्ष कैप्सूल में आई तकनीकी खराबी को ठीक करने की जरूरत है।

नासा ने अभी तक स्पेसक्राफ्ट के अंतरिक्ष यात्रियों की वापसी की कोई नई तारीख नहीं बताई है, लेकिन इसे सुरक्षित माना जा रहा है। नासा के व्यापारिक चालक प्रोग्राम प्रबंधक स्टीव स्टिच ने कहा, “हमें जल्दी में वापस लौटने की कोई जरुरत नहीं है।अब भी उलझन बनी हुई है कि बोइंग का स्टारलाइनर स्पेसक्राफ्ट कब वापस आएगा।

इसके खराब होने की वजह यह है कि स्पेसक्राफ्ट को स्पेस स्टेशन तक ले जाने के दौरान हिलियम गैस का रिसाव हो गया था और कुछ थ्रस्टरों में भी खराबी आ गई थी। अधिकारियों के मुताबिक, स्पेसक्राफ्ट पूरी तरह से सुरक्षित है और अंतरिक्ष यात्रियों को वापस लाने में कोई समस्या नहीं है। इस मिशन का मुख्य उद्देश्य था कि स्टारलाइनर स्पेसक्राफ्ट क्या सक्षम है या नहीं, अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर वापस लाने में।

स्टारलाइनर के लॉन्च से अब तक कई समस्याएं सामने आई हैं, जिसकी वजह से इस मिशन को कई बार टाला गया। इसका पहला प्रयास 6 मई को होना था, लेकिन लॉन्च से सिर्फ दो घंटे पहले ही एटलस वी रॉकेट के ऊपरी हिस्से में लगे प्रेशर वॉल्व में खराबी के कारण इसे रोकना पड़ा। इसके बाद भी स्टारलाइनर में कई तकनीकी समस्याएं आईं, जिसके कारण लॉन्च में देरी हुई।

सुनीता विलियम्स और बुश विलमोर अंतरिक्ष में आठ दिनों के लिए गए थे, लेकिन अबतक वे वापस नहीं आए हैं। वहीं, उनके स्पेसक्राफ्ट में अबतक कुछ तकनीकी समस्याएं आ रही हैं जिसके कारण उन्हें अंतरिक्ष स्टेशन से 45 दिनों तक जुड़ा रहना पड़ सकता है।

दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को वापस लाने में देरी का मुख्य कारण यह है कि बोइंग और नासा अब न्यू मैक्सिको में कुछ रिसर्च और टेस्ट करना चाहते हैं। इससे उन्हें स्पष्टीकरण मिलेगा कि अंतरिक्ष यात्रा के दौरान स्टारलाइनर के किस तकनीकी हिलियम गैस के रिसाव और थ्रस्टरों में खराबी आई थी।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.