City Headlines

Home » राज्यसभा में नेता सदन की स्थिति में जेपी नड्डा और पीयूष गोयल की जगह बदली जाएगी।

राज्यसभा में नेता सदन की स्थिति में जेपी नड्डा और पीयूष गोयल की जगह बदली जाएगी।

by Nikhil

भारतीय जनता पार्टी ने राज्यसभा में नेता सदन के लिए जेपी नड्डा को चुना है। यह निर्णय उनकी प्रमुखता को और भी मजबूत करेगा, क्योंकि वे पहले से ही पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। इसके साथ ही, नड्डा को नई सरकार में स्वास्थ्य और रसायन एवं उर्वरक मंत्रालयों का भी जिम्मा सौंपा गया है।

जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले कार्यकाल में स्वास्थ्य मंत्रालय का महत्वपूर्ण कार्य संभाला था। इसके बाद, 2019 में उन्हें भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष का पद सौंपा गया और जनवरी 2020 में उन्हें केंद्रीय गृह मंत्री बनाया गया। उसके बाद से ही वे पूर्ण रूप से पार्टी के अध्यक्ष बन गए थे। उनके भाजपा अध्यक्ष पद का कार्यकाल जनवरी में समाप्त हो चुका है, लेकिन 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए उन्हें अपने कार्यकाल में छह महीने का विस्तार मिला था। अब उनका कार्यकाल जून में समाप्त हो रहा है।

आरएसएस से जुड़ने के बाद, नड्डा ने अपनी राजनीतिक जीवनशैली की शुरुआत की और 1991 में भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बन गए। उनकी कानून की डिग्री होने के बावजूद, वे भाजपा में कई प्रमुख पदों पर सेवाएं निभा चुके हैं और अनेक राज्यों में पार्टी के चुनावी अभियान का नेतृत्व भी किया है। हिमाचल प्रदेश में उन्होंने भाजपा सरकारों में मंत्री के रूप में भी काम किया है। उन्हें 2012 में राज्यसभा के लिए चुना गया और 2014 में उनके पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के बनने पर उन्हें भाजपा संसदीय बोर्ड का सदस्य नियुक्त किया गया।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.