City Headlines

Home » प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच कई महत्वपूर्ण बातचीत हुई हैं जो भारत-बांग्लादेश के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में मददगार साबित हुई हैं। इनमें विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाने के लिए समझौते पर हसीना और मोदी के बीच वार्ता हुई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच कई महत्वपूर्ण बातचीत हुई हैं जो भारत-बांग्लादेश के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में मददगार साबित हुई हैं। इनमें विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाने के लिए समझौते पर हसीना और मोदी के बीच वार्ता हुई है।

by Nikhil

कुछ मुख्य बिंदुओं पर चर्चा हुई है:

1. *रक्षा सहायता और सुरक्षा समर्थन*: दोनों देशों के बीच सुरक्षा सहायता और सामरिक सहयोग को मजबूत करने के लिए वार्ता की गई है। इसमें उत्तर पूर्वी राज्यों के बाघा व राजशाही विभागों के लिए बांग्लादेश को और भी मदद प्राप्त करने की कोशिश है।

2. *व्यापार और आर्थिक सहयोग*: दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों और आर्थिक सहयोग को बढ़ाने के लिए वार्ता की गई है। नए व्यापारिक मौके और संभावनाओं के बारे में चर्चा हुई है।

3. *मानव संसाधन विकास*: शिक्षा, स्वास्थ्य और मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में सहयोग और अनुभवों की विनिमय को बढ़ाने के लिए चर्चा की गई है।

4. *सांस्कृतिक और लोकतांत्रिक एकता*: दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक विनिमय, लोकतांत्रिक मूल्यों की सुरक्षा और संरक्षण को लेकर चर्चा हुई है।

इन वार्ताओं के माध्यम से भारत और बांग्लादेश के बीच संबंधों को मजबूत करने और दोनों देशों के लिए लाभकारी साथी का दर्जा बढ़ाने की कोशिश की जा रही है

नई दिल्ली: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मात्र 15 दिनों में दूसरी बार भारत का दौरा करके पड़ोसी देशों में चर्चा का दौरा चलाया है। इस अवसर पर नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके साथ व्यापार और विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए व्यापक बातचीत की। शुक्रवार से बांग्लादेश की प्रधानमंत्री भारत की दो दिवसीय यात्रा पर हैं।

लोकसभा चुनाव के बाद भारत में नई सरकार के गठन के बाद, इस यात्रा का महत्वपूर्ण ऐतिहासिक संकेत है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने हैदराबाद हाउस में शेख हसीना का गर्मी से स्वागत किया। उन्होंने कहा, “दोनों नेता ने 2019 से 10 बार से अधिक मुलाकात की है, जिससे रिश्तों में अभूतपूर्व बदलाव आया है।” हसीना ने सुबह राजघाट पर जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

वर्तमान समय में वैश्विक समुदाय ऊर्जा के महामारी से जूझ रहा है। इसी बीच प्रधानमंत्री मोदी ने ऊर्जा के आवश्यकताओं पर अधिक ध्यान दिया है। उनके साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री हसीना ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में आधिकारिक रूप से स्वागत किया। अधिकारियों ने बताया कि मोदी-हसीना की वार्ता का मुख्य उद्देश्य व्यापार, संपर्क और ऊर्जा से जुड़े क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को नई गति देना था। हसीना भारत के पड़ोसी और हिंद महासागर क्षेत्र के उन सात शीर्ष नेताओं में शामिल थीं, जो नौ जून को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित थे। इन पिछले कुछ वर्षों में भारत और बांग्लादेश के बीच समग्र सामरिक संबंध तेजी से मजबूत हुए हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.