City Headlines

Home » नेपाल में अनुभव द्वारा खराब मौसम आम लोगों के लिए विपत्ति बन गया है, जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न घटनाओं में 28 लोगों की मौत हो गई है।

नेपाल में अनुभव द्वारा खराब मौसम आम लोगों के लिए विपत्ति बन गया है, जिसके परिणामस्वरूप विभिन्न घटनाओं में 28 लोगों की मौत हो गई है।

by Nikhil

नेपाल में खराब मौसम ने दिनचर्या को बदल दिया है। दक्षिण-पश्चिमी मानसून के आगमन से लेकर गुरुवार तक कई मौसम संबंधी घटनाओं के कारण कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई है। इसके अतिरिक्त, भूकंप, बाढ़ और आकाशीय बिजली गिरने की वजह से देश प्रभावित हुआ है। मानसून ने 10 जून को नेपाल के पूर्वी हिस्सों में प्रवेश किया था और तब से वहां कई प्राकृतिक आपदाएं घटी हैं। बुधवार को विभिन्न जिलों से भूस्खलन, बाढ़ और बिजली गिरने की 44 घटनाओं की जानकारी मिली है।

नेपाल तीन मुख्य भौगोलिक क्षेत्रों में बाँटा हुआ है – हिमालयी क्षेत्र, मध्य पर्वतीय क्षेत्र और तराई। हिमालयी क्षेत्र में अनेक छोटी-बड़ी नदियाँ बहती हैं, जहाँ जलवायु परिवर्तन के कारण मौसमी संबंधी घटनाएँ बढ़ रही हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार, पूर्वी और पश्चिमी नेपाल के पांच जिलों में भूस्खलन और बाढ़ के कारण 15 लोगों की मौत हो गई है। राष्ट्रीय आपदा जोखिम मोचन एवं प्रबंधन प्राधिकरण के प्रवक्ता दीजन भट्टाराई ने बताया कि लामजुंग और तापलेजुंग जिलों में पांच-पांच, कास्की में दो, संखुवासभा और ओखलधुंगा जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि मोरंग जिले में बाढ़ से एक व्यक्ति की मौत हो गई है और एक व्यक्ति लापता है।

भूस्खलन के कारण इन इलाकों में 30 घर पूरी तरह से नुकसान उठा चुके हैं। अधिकारियों के अनुसार, झापा और कैलाली जिलों में बिजली की चपेट में आने से दो-दो लोगों समेत 11 जिलों में 13 लोगों की मौत हो गई है। इस दौरान, अधिकारियों ने बताया कि ओखलधुंगा जिले में भूस्खलन के घटनाओं में घायल हुए दो लोगों को बुधवार को हेलीकॉप्टर से काठमांडू ले जाया गया और उनका इलाज एक निजी अस्पताल में शुरू कर दिया गया है। सरकार ने बचाव और राहत कार्य के लिए सेना, सशस्त्र पुलिस बल, पुलिस कर्मियों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी तैनात किया है।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.