City Headlines

Home » दिल्ली में मौसम ने फिर से सुलगा दिया है। इस बार राजधानी में तापमान ने 12 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया, और रात के टेम्परेचर 35.2 डिग्री तक पहुंच गया है। अब सवाल यह है कि कब आएगी वर्षा और दिलाएगी ठंडक?

दिल्ली में मौसम ने फिर से सुलगा दिया है। इस बार राजधानी में तापमान ने 12 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया, और रात के टेम्परेचर 35.2 डिग्री तक पहुंच गया है। अब सवाल यह है कि कब आएगी वर्षा और दिलाएगी ठंडक?

by Nikhil

दिल्ली में इतनी लम्बे समय तक जारी रही अभूतपूर्व गर्मी ने इतिहास रच दिया है। यहां पर अब तक 37 दिनों से अधिक काल तक तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है। आज शाम से कल रात तक, धूल भरी आंधी और वर्षा की संभावना है, जिससे थोड़ी राहत मिल सकती है। नवीनतम जानकारी के अनुसार, दिल्ली को बुधवार से गर्मी में हल्की राहत मिल सकती है क्योंकि 20 जून को शहर में ताजा पश्चिमी विक्षोभ के कारण हल्की बारिश की उम्मीद है।

दिल्ली में लू के कारण हालात गंभीर हो गए हैं। गर्मी के इस दौरान 24 घंटे में 33 लोगों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। पुलिस अभी तक पांच जिलों के डेटा के पास नहीं है, लेकिन अधिकांश मामलों में वह फुटपाथ पर या रैन बसेरों में रहने वाले लोगों की मौत का कारण मान रही है। पुलिस के अनुसार, इन मृतकों की मौत की शुरुआती जांच में गर्मी ही एक महत्वपूर्ण कारक है, हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद वास्तविक कारण स्पष्ट होगा।

दिल्ली के 38 अस्पतालों में दिन-प्रतिदिन हजारों मरीज बेहोशी, उल्टी और चक्कर आने के बारे में शिकायत के साथ पहुंच रहे हैं। लू की वजह से अस्पतालों में हीट स्ट्रोक और थकान के मरीजों की भीड़ देखी जा रही है। डॉक्टरों ने विशेष रूप से बुजुर्ग और कमजोर प्रतिरोधक्षमता वाले मरीजों को बाहर निकलने से रोकने की सलाह दी है।

पिछले महीने, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने घोषणा की थी कि सरकारी अस्पतालों में हीटस्ट्रोक पीड़ितों के लिए विशेष बिस्तर आरक्षित किए जाएंगे, जैसे एलएनजेपी अस्पताल में पांच बिस्तर आरक्षित हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.