City Headlines

Home » तीसरे चरण में बिहार की पांच सीटों पर 60% वोटिंग; दो मौतें, इन बूथों पर वोट बहिष्कार

तीसरे चरण में बिहार की पांच सीटों पर 60% वोटिंग; दो मौतें, इन बूथों पर वोट बहिष्कार

by Nikhil

बिहार में तीसरे चरण की पांच सीटों पर मतदान का समापन हो गया। पहले और दूसरे चरण की तुलना में इस बार मतदान का प्रतिशत बेहतर रहा। हालांकि, 2019 में हुए इन पांचों सीटों पर हुए मतदान से तुलना करें तो इस बार करीब 1.22 प्रतिशत कम मतदान हुआ। पिछली बार 61.22 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस बार 60 प्रतिशत हुआ।  मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एचआर श्रीनिवास के अनुसार, तीसरे चरण में सबसे अधिक अररिया में 62.80 प्रतिशत और झंझारपुर में सबसे कम 55.50 प्रतिशत मतदान हुआ। इसके बाद सुपौल में 62.40, मधेपुरा में 61 प्रतिशत, और खगड़िया में 58.20 प्रतिशत मतदान हुआ है। हालांकि, 2019 के चुनाव की तुलना में मधेपुरा और खगड़िया सीट पर मतदान अधिक हुआ। 2019 में मधेपुरा में 60.86 प्रतिशत तो खगड़िया में 57.68 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।

पीठासीन अधिकारी समेत दो की मौत
वहीं मधेपुरा, सुपौल समेत कुल 09 मतदान केन्द्रों पर विकास के विभिन्न मुद्दों पर मतदान बहिष्कार की सूचना प्राप्त हुई है। सुपौल में पीठासीन पदाधिकारी और अररिया में होमगार्ड जवान की मतदान ड्यूटी के दौरान मौत हो गई। निर्वाचन आयोग के अनुसार, तीसरे चरण के निर्वाचन में रिजर्व सहित कुल 12, 225 कंट्रोल यूनिट,  12, 179 बैलेट यूनिट तथा 13, 323 वीवीपैट का उपयोग हुआ है, जिसमें 57 कंट्रोल यूनिट, 40 बैलेट यूनिट तथा 71  वीवीपैट मॉक पोल के दौरान बदले गये हैं। 18 कंट्रोल यूनिट, 18 बैलेट यूनिट तथा 96 वीवीपैट मॉक पोल के पश्चात बदले गये हैं।

80 लाख कैश जांच अभियान के दौरान जब्त
निर्वाचन आयोग के अनुसार, तीसरे चरण की पांच लोकसभा सीटों पर कुल 54 अभ्यर्थी चुनावी मैदान में उतरे। इसमें पुरुष अभ्यर्थियों की संख्या 51 तथा महिला अभ्यर्थियों की संख्या 03 है। तीसरे चरण में कुल सामान्य निर्वाचकों की संख्या  98, 60, 397 है, जिसमें पुरुषों की संख्या 51,29, 473 तथा महिलाओं की संख्या  47, 30, 602 तथा थर्ड जेंडर की संख्या 322 है। तीसरे चरण के पांच संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में कार्यरत फ्लाइंग स्क्वायड और पुलिसकर्मियों द्वारा जांच अभियान के दौरान 80 लाख नकद जब्त किया गया। वहीं कुल 1, 40, 565 लीटर शराब जब्त किया गया है। इसका मूल्य लगभग 3.75 करोड़ हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.