City Headlines

Home » जमानत केजरीवाल की हुई, सीएम अंदर है… पूर्व गृहमंत्री विज ने दी केजरीवाल की जमानत पर प्रतिक्रिया

जमानत केजरीवाल की हुई, सीएम अंदर है… पूर्व गृहमंत्री विज ने दी केजरीवाल की जमानत पर प्रतिक्रिया

by Nikhil

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उच्चतम न्यायालय ने 51 दिन बाद सशर्त जमानत देने पर हरियाणा के पूर्व गृह मंत्री अनिल विज ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जो जेल गया था वो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गया था और जमानत सिर्फ केजरीवाल की हुई है, मुख्यमंत्री अभी भी अंदर है।

उन्होंने कहा क्योंकि न तो मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर कर सकता है, न ही मुख्यमंत्री के कार्यालय में जा सकता है और न ही सचिवालय जा सकते हैं, उन पर पाबंदियां लगाई गई हैं। इसलिए मुख्यमंत्री अभी भी अंदर है, केवल अरविंद केजरीवाल ही बाहर आए हैं। विज शनिवार को पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे।

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान कि नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री नहीं बन सकते पर पलटवार करते हुए अनिल विज ने कहा कि वो अपना बताएं कि वो जीतेंगे या नहीं जीतेंगे और जीतेंगे तो वायनाड से जीतेंगे या रायबरेली से जीतेंगे और अगर दोनों से जीत जाते हैं तो कौन सी सीट छोड़ेंगे क्योंकि वायनाड के लोगों को ये चिंता हो रही है कि ये यूपी न भाग जाएं और यूपी वालों को ये चिंता हो रही है ये वायनाड न भाग जाए।

गत दिनों कांग्रेस प्रत्याशी वरुण मुलाना के भाजपा कार्यालय पर अपना काफिला रोकने पर पूर्व मंत्री अनिल विज ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठे थे कि तभी तीन गाड़िया रुकीं, इसमें वरुण व अन्य कांग्रेसी नेता भी थे जो आकर उनके पास बैठ गए और शिष्टाचार के नाते उन्होंने उन सभी को जलपान करवाया।

अगर इस पर भी कोई एतराज उठाता है तो उन्हें राजनीति में नहीं रहना चाहिए क्योंकि शिष्टाचार तो सबके साथ है। ऐसा नहीं है कि कोई आए और उन्हें जलपान न करवाए। अनिल विज ने कहा कि जो व्हाट्सएप पर चल रहा है कि मैंने आशीर्वाद दे दिया ये गलत है, हां उन्होंने मेरे पांव भी छुए और दस बार कहा कि आशीर्वाद दे दो लेकिन राजनीति अपनी जगह है और व्यक्तिगत रिश्ते जो हैं वो अलग हैं।

ये प्रजातंत्र का उत्सव
इधर, जींद की उचाना मंडी में प्रचार के दौरान नैना चौटाला के काफिले पर पथराव होने पर दिग्विजय चौटाला ने कांग्रेस पर अंदेशा जताया, इस पर अनिल विज ने कहा कि इसकी संभावना हो भी सकती है लेकिन ये गलत है क्योंकि ये प्रजातंत्र का उत्सव है इसको उत्सव की ही तरह से मानना चाहिए। विज ने कहा कि अगर किसी को कोई बात कहनी है तो वोट से बड़ा कुछ नहीं होता। जो भी इस तरह की जोर आजमाइश कर रहा है, ये गलत है क्योंकि चुनाव प्रदेश में शांतिप्रिय होते हैं और इस बार भी शांतिप्रिय होने चाहिए।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.