City Headlines

Home » केरल में मानसून जल्द ही पहुंचेगा, और इस साल बदरा बारिश के रूप में जमकर बरसेगा। छह राज्यों में भीषण गर्मी के कारण रेड अलर्ट जारी किया गया है।

केरल में मानसून जल्द ही पहुंचेगा, और इस साल बदरा बारिश के रूप में जमकर बरसेगा। छह राज्यों में भीषण गर्मी के कारण रेड अलर्ट जारी किया गया है।

by Nikhil

मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी क्षेत्रों को कम से कम तीन दिन तक भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा, और कोई राहत की उम्मीद नहीं है। इस अवधि के दौरान, राजस्थान के अधिकांश क्षेत्रों और पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, और मध्य प्रदेश के विभिन्न स्थानों में लू की संभावना है।

देश के विभिन्न हिस्सों, उत्तर भारत समेत, में चल रही भीषण गर्मी और बढ़ती बिजली की मांग के बीच मौसम विभाग ने आशा की किरण जगाई है। उनकी रिपोर्ट के अनुसार, केरल में जल्द ही मानसून की प्रक्षेप देने की संभावना है। इस साल मौसम में अधिक बारिश की उम्मीद है, जो सामान्य से अधिक होगी।

मौसम विभाग के महानिदेशक, मृत्युंजय महापात्र, ने बताया कि केरल में अगले पांच दिनों में दक्षिण-पश्चिम मानसून का आगमन होने की संभावना है। उन्होंने इसके साथ ही यह भी जानकारी दी कि उत्तर प्रदेश में वाराणसी और गोरखपुर में 18-20 जून तक, महाराष्ट्र के मुंबई में 10-11 जून तक और दिल्ली में 29 जून को मानसून की पहुंच संभव है। इसी बीच, सितंबर तक उत्तर-पूर्व भारत में सामान्य से कम और उत्तर-पश्चिम भारत में सामान्य बारिश की संभावना है, जबकि देश के मध्य और दक्षिण प्रायद्वीपीय क्षेत्रों में सामान्य से अधिक बारिश हो सकती है।

महानिदेशक महापात्र ने बताया कि देश भर में जून माह में सामान्य वर्षा की संभावना है, जो लंबी अवधि के औसत 166.9 मिमी का होगा, जो 92-108 प्रतिशत के बीच होगा। उन्होंने इसके साथ ही यह भी बताया कि जून में देश के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से अधिक अधिकतम तापमान की संभावना है, लेकिन दक्षिणी प्रायद्वीपीय भागों को छोड़कर।

विभाग ने अगले तीन महीनों, जून, जुलाई, और अगस्त में भारी बारिश की संभावना जताई है क्योंकि अल नीनो समाप्त हो रहा है और ला नीना का विकास दिखाई दे रहा है।

छह राज्यों में रेड अलर्ट…
नौतपा के तीसरे दिन सोमवार को उत्तर भारत में गर्मी ने तांडव मचाया, खासकर राजस्थान में। राज्य के पश्चिमी हिस्से में 29 मई तक के लिए भीषण गर्मी के चलते रेड अलर्ट जारी किया गया है। जैसलमेर में लू से बीएसएफ जवान समेत दो लोगों की मौत हो गई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में कम से कम तीन दिनों तक भीषण गर्मी की संभावना है, जिससे कि राजस्थान के अधिकांश भागों और पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के विभिन्न स्थानों में लू हो सकती है। इसके बाद, कुछ राहत की उम्मीद है। मौसम विभाग ने राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली और चंडीगढ़ में 29 मई तक रेड अलर्ट जारी किया है। नौतपा में राजस्थान के फलोदी में सबसे अधिक तापमान है, जिसमें शनिवार को 50 डिग्री, रविवार को 49.8 डिग्री और सोमवार को 49.4 डिग्री का पारा दर्ज किया गया है। फलोदी समेत देश में 17 स्थानों पर पारा 48 डिग्री के पास रहा।

पंजाब के इतिहास में सोमवार को पारा 48.4 डिग्री तक पहुंचने से सभी पूर्व रिकॉर्डों को तोड़ दिया गया। बठिंडा में इस बेहद तेज तापमान की वजह से बीएसएफ जवानों सहित लोगों की समस्या की गई है। इससे पहले, 29 मई, 1944 को लुधियाना में 48.3 डिग्री का तापमान दर्ज किया गया था।

हिमाचल प्रदेश में इस सीज़न का सबसे गर्म दिन भी सोमवार रहा। बिलासपुर, ऊना, और हमीरपुर में लू की वजह से ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। प्रदेश के छह स्थानों में, जैसे कि ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, चंबा, बरठीं, और धौलाकुआं में, तापमान अधिकतम 40 डिग्री के पार रहा।

राजस्थान और गुजरात में, 9 से 12 लू वाले दिनों के रिकॉर्ड दर्ज किए गए हैं, जहाँ तापमान 45 से 50 डिग्री तक पहुंचा। उत्तर पश्चिम भारत और उसके आसपास के मध्य क्षेत्र में, जून के महीने में चार से छह लू वाले दिन हो सकते हैं।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.