City Headlines

Home » इस परिवार के दो सैनिक बेटे दो महीने पहले देश के लिए शहीद हो गए। इस दुखद घटना ने परिवार को गहरी चोट पहुंचाई है।

इस परिवार के दो सैनिक बेटे दो महीने पहले देश के लिए शहीद हो गए। इस दुखद घटना ने परिवार को गहरी चोट पहुंचाई है।

by Nikhil

बीते दिनों, जम्मू-कश्मीर के कठुआ में एक दुखद हादसे में आतंकी सेना ने भारतीय सेना की गाड़ी पर हमला किया। इस हमले में पांच वीर जवान शहीद हो गए और कई अन्य जवान घायल हो गए। इन पांच वीरों में से सभी उत्तराखंड के थे। यह समाचार राज्य में शोक का सबब बना है, लेकिन साथ ही गर्व का भी।

इसी समय, एक परिवार का भी उल्लेख है, जिसमें दो बेटे दो महीने के अंतराल में देश के लिए शहीद हो गए हैं। इस परिवार के लिए यह वाक्यक्रम दुःखद और गर्वजनक दोनों है।

अभी हाल ही में, उत्तराखंड के टिहरी जिले के डागर गांव में एक दुःखद घटना में एक परिवार दो बेटों को देश के लिए शहीद होने का दुख झेल रहा है। इन दोनों बेटों में से एक आदर्श नेगी ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर के कठुआ में हुए हमले में अपनी जान गंवाई, जबकि दूसरे बेटे, मेजर प्रणय नेगी, बीते अप्रैल में लेह में बीमारी से लड़ते हुए शहीद हो गए थे।

आदर्श नेगी ने साल 2018 में गढ़वाल राइफल्स में भर्ती हुए थे और उनके पिता कृषक थे। उनके विवाह की बात भी चल रही थी, लेकिन दोनों बेटों की अचानकी शहादत ने परिवार को गहरी चोट पहुंचाई है।

इस दुखद समय में, स्थानीय विधायक और राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शहीदों के परिवार को अपनी संवेदना व्यक्त की है और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। वे बताते हैं कि ये वीर जवान राष्ट्र के लिए अपनी जान न्योछावर करते हुए हमेशा हमारी स्मृतियों में जीवित रहेंगे।

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.