City Headlines

Home » इस्राइली कंपनी ने AI के जरिए लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की

इस्राइली कंपनी ने AI के जरिए लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की

by Nikhil

ओपनएआई (OpenAI) ने दावा किया है कि इस्राइल की एक कंपनी ने भारत में लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की। इस कंपनी ने भाजपा के खिलाफ और विपक्ष के समर्थन में सामग्री प्रसारित करने की कोशिश की। चैट जीपीटी को तैयार करने वाली कंपनी ओपनएआई (OpenAI) ने भारत के लोकसभा चुनावों में विदेशी हस्तक्षेप को लेकर बड़ा दावा किया है। OpenAI ने दावा किया है कि इस्राइल की एक कंपनी ने भारत में लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की।

कृत्रिम मेधा के जरिए इस तरह चुनाव प्रभावित करने की कोशिश हुई
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्राइली कंपनी STOIC ने AI की मदद से काल्पनिक यूजर और उनके सोशल मीडिया बायो बनाए। इन काल्पनिक व्यक्तियों के सोशल मीडिया हैंडल से अलग-अलग तरह की पोस्ट की गईं। इसके बाद कई फर्जी अकाउंट भी बनाए गए। इन फर्जी अकाउंट के जरिए सोशल मीडिया पोस्ट पर कमेंट कराए गए ताकि संवाद यानी एंगेजमेंट वास्तविक लगे। OpenAI की रिपोर्ट के मुताबिक, इस कंपनी ने भाजपा के खिलाफ और विपक्ष के समर्थन में सामग्री प्रसारित करने की कोशिश की।
 

इस तरह तैयार किया गया पूरा नेटवर्क
अब जरा यह समझने के की कोशिश करते हैं कि आखिर इस नेटवर्क को कैसे चलाया गया। दरअसल, OpenAI ने अपनी वेबसाइट पर एक रिपोर्ट साझा की है। इसमें कहा गया है कि इस्राइल की एक कंपनी  एसटीओआईसी (STOIC) ने गाजा युद्ध और भारत में आम चुनावों को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ फर्जी अकाउंट तैयार किए। रिपोर्ट के अनुसार मई में इन फर्जी अकाउंट्स से भारत पर आधारित टिप्पणियां करनी शुरू की गईं। इनमें सत्तारूढ़ दल की आलोचना की गई और विपक्ष की तारीफ की गई। रिपोर्ट के मुताबिक मई में भारत में लोकसभा चुनावों पर आधारित कुछ गतिविधियों को शुरू किया गया था। हालांकि, 24 घंटे के भीतर ही इन गतिविधियों का पता लगाकर इन्हें रोक दिया गया। OpenAI का कहना है कि इस्राइल से संचालित किए जा रहे ऐसे कई सोशल मीडिया अकाउंट्स पर प्रतिबंध लगाया गया। फेसबुक, इंस्टाग्राम, एक्स और यू-ट्यूब पर ये सभी अकाउंट तैयार किए गए थे। इन अकाउंट्स से भारत में लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने के लिए तरह तरह की गतिविधियां चलाईं गईं।

OpenAI का ‘ऑपरेशन जीरो जेनो’
OpenAI ने यह भी कहा ’हम सुरक्षित कृत्रिम मेधा (एआई) विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और सुरक्षित एआई को तैयार करना ही OpenAI का उद्देश्य है। हम ऐसी नीतियों को लागू कर करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जिनसे एआई के दुरुपयोग को रोका जा सके।’ OpenAI ने यहा भी बताया कि बीते तीन महीनों में ऐसे पांच आईओ (influence operations) का पता लगाकर प्रतिबंधित किया, जो इंटरनेट पर भ्रामक सूचनाओं का प्रसार कर रहे थे। इसी तरह की कार्रवाई में इस्राइल की कंपनी एसटीओआईसी (STOIC) पर भी की गई। OpenAI ने इस अभियान को ‘ऑपरेशन जीरो जेनो (Operation Zero Zeno) नाम दिया है।

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने की कड़ी निंदा
केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने इसकी कड़ी निंदा की है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा ‘यह साफ हो गया है कि ’यह बिल्कुल साफ है कि भारत के कुछ राजनीतिक दलों द्वारा विदेशी हस्तक्षेप के माध्यम से लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की गई। ये लोकतंत्र के लिए डरावनी धमकी की तरह है। इसकी गहन जांच कर पर्दाफाश करने की आवश्यकता है। मेरा मानना है कि यह खुलासा पहले होना चाहिए था। अब चुनाव समाप्त हो रहे हैं।’

 

Subscribe News Letter

Copyright © 2022 City Headlines.  All rights reserved.